Saturday, February 4, 2023

अजंता गुफा के बारे में जानकारी 2023 | Ajanta Caves Information In Hindi

अजंता गुफा के बारे में जानकारी : दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं अजंता गुफा के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है Ajanta caves Information in Hindi। अजंता केव के बारे में सिर्फ कुछ ही लोगों को पता होगा और कई लोगों ने तो अभी तक इसका नाम भी नहीं सुना होगा लेकिन मैंने सोचा कि मैं अपने सभी दर्शकों को और पढ़ने वालों को इसके बारे में बताओ क्योंकि गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते हैं | तो चलिए शुरू करते हैं

INFOGYANS

अजंता गुफा के बारे में जानकारी ( Ajanta caves Information in Hindi )

अजंता अजंता का गुफा हमारे भारत देश के महाराष्ट्र राज्य में मौजूद है यह औरंगाबाद शहर में बनाया हुआ है। अजंता की गुफाएं औरंगाबाद से लगभग 105 किलोमीटर दूरी पर मौजूद है और यह तकरीबन 29 चट्टानों को काटकर बनाया गया है और इसमें मौजूद सभी मूर्तियों का आकार बहुत ज्यादा शुद्ध और सही तरीके से बनाया गया है आप वहां पर एक भी मूर्ति में किसी भी तरह की कमी नहीं निकाल सकते।

अजंता की गुफाएं बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है यह पूरे भारत देश में हर व्यक्ति इस गुफा को जानता है और खास करके महाराष्ट्र में रहने वाले लोग इस गुफा के बारे में जानते हैं। इस गुफा को देखने के लिए आप कहीं से भी बहुत ही आसानी के साथ पहुंच सकते हैं और महाराष्ट्र में मौजूद लोग यहां पर जाने के लिए बस एवं टैक्सी का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Read Also – Information On Taj Mahal In Hindi

अजंता की गुफा हमारे भारत देश में एक ऐसी निशानी है जो यह दर्शाता है कि प्राचीन काल में ऐसे मूर्तिकार थे जो इतने मजबूत चट्टानों को इतनी आसानी से काटकर इतनी सुंदर मूर्तियां बना सकते हैं।

अजंता की गुफाएं इतनी पुरानी है कि यह प्राचीन काल में बनाई गई थी इतनी पुरानी गुफा है कि यह गुफाएं एलोरा गुफाओं से भी अधिक पुरानी है इस गुफा को बनाने के लिए उनके चट्टानों को काटा गया है जो एक घोड़े के नाल के आकार में दिखती हैं।

अजंता की गुफाओं को हम बुद्ध गुफा भी बोल सकते हैं क्योंकि इस गुफा में बुद्ध जी की सभी मूर्तियां बनी है और बौद्ध धर्म के सभी कलाकृतियां हैं इस गुफा में मौजूद हैं।

इस गुफाओं को वाकाटन शासक के राजा द्वारा बनाई गई है। अजंता की गुफाओं में हमें बौद्ध धर्म के सभी कलाकृतियां ही देखने मिलती हैं यह इतनी ज्यादा प्रसिद्ध है कि यहां पर पूरे भारत से लोग आते हैं देखने के लिए।

अगर आप प्राचीन काल की कलाओं की खोज पर अपना समय व्यतीत करना चाहते हैं तो आपको अजंता गुफा की गुफा नंबर 10,16, 21 और 32 नंबर पर जाना चाहिए यह गुफाएं बौद्ध धर्म ब्राह्मणवाद और जैन धर्म के स्पष्ट कलाकृतियां और वहां की झलक दिखाता है।

प्राचीन काल में अजंता की हर कलालायो पर जातक कथाओं का महत्वपूर्ण निर्देश दिया गया हुआ है लेकिन कुछ समय पश्चात जब अजंता गुफाओं की खुदाई हुई तब उसमें कई सारे परिवर्तन हुए और अब वहां पर बौद्ध धर्म की चित्रकला में मौजूद है।

INFOGYANS

अजंता की गुफा में 15 फीट ऊंची बौद्ध जी की एक प्रतिमा बनी हुई है यह प्रतिमा दो मंजिला ऊपर संरचना पर बनी है ऐसा माना गया है और कई सबूतों से यह पता चला है कि इस प्रतिमा को बनाने के लिए 5 शताब्दी या लगी थी और लगभग 200000 टन चट्टानों का इस्तेमाल करके इस प्रतिमा को बनाया गया था।

इस गुफा की खोज 1819 इसवी सन में हुआ था और इसकी खोज एक ब्रिटिश आर्मी के ऑफ इसरो द्वारा की गई थी।

अजंता की गुफाओं की संरचना का जितना भी बोला जाए उतना कम है क्योंकि यहां पर मौजूद सभी कलाएं बहुत ही खास हैं और इसमें इस्तेमाल किए गए चट्टानों और पहाड़ों को काटने की विधि अपने आप में ही एक बहुत ही रोचक तत्व हैं।

अजंता की गुफाएं हमें दो हिस्सों में बिखरी हुई मिल सकती हैं अर्थात आप अजंता की गुफाओं में दो हिस्से देखेंगे एक हिस्सा बौद्ध धर्म के हीनयान और दूसरा हिस्सा महायान संप्रदाय की प्रतिमाएं एवं झलक देखने को मिलती है।

हम आपको बता दें कि प्राचीन काल में भी दीवारों पर चित्र बनाने के लिए सबसे पहले उन दीवारों को अच्छे से रगड़ के साथ किया जाता था और फिर उसके ऊपर एक लेप लगाकर उसको अच्छी तरह से चिकना और चित्र बनाने योग्य तैयार किया जाता था उसके पश्चात ही उसके ऊपर चित्र बनाया जाते थे और हम आपको एक बात और बता दे एक की गुफा संख्या 16 पर एक चित्र बना है वह है मरणासन्न राजकुमारी का और यह बहुत ही प्रशंसनीय और बहुत अधिक प्रसिद्ध है।

अगर आप प्राचीन कलाओं के शौकीन हैं और उनको देखना आपको बेहद पसंद है तो आपके लिए अजंता की गुफाएं बहुत ही कारगर साबित हो सकती है क्योंकि यहां पर जाने के बाद आपको ऐसी ऐसी चक कलाकृतियां और चित्रकला दिखेंगे जिसे देख कर आप बेहद प्रसन्न और मन मुक्त हो सकते हैं।

INFOGYANS

अजंता की गुफाओं में जितनी भी कलाकृतियां मौजूद हैं वह सभी भगवान बुद्ध के जीवन काल से मिलती-जुलती हैं अजंता गुफा की दीवारों पर और छतों पर भी भगवान बुद्ध के जीवन काल की चित्रकला में मौजूद है।

चावल के मांड गोंद और कुछ पत्तियों का इस्तेमाल करके इन गुफाओं पर किए गए रंगों को इनसे बनाया गया था जो वर्तमान समय में सभी वैज्ञानिकों एवं अन्य खोज कर्ताओं के लिए एक आश्चर्य की बात है कि प्राचीन काल में इस मूर्तियों की चमक वर्तमान समय में अभी उसी तरह से बरकरार है।

यह एक बहुत ही प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है इसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं और खासकर के बौद्ध धर्म के लोग यहां पर जरूर आते हैं क्योंकि उनको अपने भगवान बुद्ध के बारे में जानना और उनके प्राचीन जीवन काल के चित्रकला ओं को देखना बेहद पसंद है इसलिए क्या गुफा बहुत ज्यादा हमारे भारत देश में प्रसिद्ध है।

निष्कर्ष(Conclusion)

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया Ajanta caves Information in Hindi। अगर आपको यह पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यद्यपि आप चाहते हैं कि हम इसी तरह के Ajanta caves Information in Hindi अन्य विषय पर भी जानकारी दें तो आप उसके लिए हमें कमेंट कर सकते हैं।

FAQ

अजंता की गुफाएं कहा पर है?

अजंता की गुफाएं- औरंगाबाद से 101 किमी दूर उत्तर में अजंता की गुफाएं स्थित हैं।

अजंता गुफा की खोज कब हुई?

कहा जाता है कि 1819 में इन गुफाओं की खोज इस इलाके में शिकार खेलने आए अंग्रेज अफसर ने की थी।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,696FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles