केले के वृक्ष के बारे में जानकारी 2021 | Banana Tree Information In Hindi

दोस्तों आज हम आपको बताने वाले हैं केले के वृक्ष के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है banana tree information in hindi। जैसे हम सब को यह बात विदित है कि अकेला हम सभी के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है उसी तरह से केले के वृक्ष के बारे में भी जानना हम सभी को आवश्यक है। information about banana tree in hindi इस विषय पर संपूर्ण जानकारी देने की मैं कोशिश करूंगा क्योंकि मुझे इसके बारे में पर्याप्त जानकारी है।

तो चलिए शुरू करते हैं about banana tree in hindi

केले के वृक्ष के बारे में जानकारी | banana tree information in hindi | about banana tree in hindi

केले के वृक्ष के बारे में जानकारी 2021 | Banana Tree Information In Hindi

मूस प्रजाति के संबंध में आता है केले का वृक्ष अर्थात मूस प्रजाति के जितने भी घासदार पौधौ से संबंध रखता है केले का वृक्ष। केले का वृक्ष लगभग 7 से 8 फिट लंबा होता है और इसके पत्ते बहुत ही बड़े बड़े होते हैं। केले का वृक्ष पूरी तरह से लोगों के काम आता है अर्थात केले का पूरा झाड़ लोगों के उपयोग में आता है केले का पत्ता कई स्थानों पर भोजन पर उसने के काम आता है जैसे हमारे साउथ भारत में अर्थात दक्षिण भारत में केले का पत्ता खाना परोसने के उपयोग में आता है और इसके फल और फूल को खाया जाता है। एवं हमारे देश में हिंदू धर्म के लोग भगवान की पूजा करते समय केले का वृक्ष का उपयोग करते हैं।

केले का वृक्ष 5 से 6 वर्ष तक जीवित रहते हैं यद्यपि केले के वृक्ष को अच्छे से देखभाल कर रहे तो वह लगभग 6 से 7 वर्ष तक भी जीवित रह सकते हैं। और इनकी लंबाई लगभग 7 से 8 फिट होती है और अब वर्तमान समय में कई प्रकार के केले उपलब्ध हो गए हैं जिनकी ऊंचाई बहुत कम होती है और वह अच्छे फल देते हैं।

केले के वृक्ष में लगभग 8 से 12 हरी हरी पत्तियां होती है जिनकी लंबाई लगभग 2 मीटर और चौड़ाई 8 मीटर तक होती है और इन पत्ते के बीच में एक लंबी रेखा होती है और यह पत्ते बहुत ही साफ सुथरा और स्वच्छ दिखते हैं।

केले के पौधे में फूल आते हैं फूल के आने के बाद ही केले के पौधे में फल लगता है और यह फूल दो तरह के होते हैं एक नर और दूसरी मादा। इस फूल को हम खा कर सकते हैं। यह फूल हल्के बैंगनी और लाल रंग के होते हैं जो दिखने में बहुत ही ज्यादा सुंदर लगते हैं और केले के वृक्ष में एक जीवन काल में एक ही फूल उगता है।

केले के फल जब उगते हैं तब वह लगभग 18 से 20 पंक्ति में होते हैं अर्थात 18 से 20 पंक्तियों का गुच्छा होता है। जो दिखने में बहुत ही लाजवाब लगता है। जब केले कच्चे होते हैं तब उन का रंग हरा होता है और इनका इस्तेमाल सब्जी बनाने के लिए किया जाता है और जब यह पक जाते हैं तब इन कारण पीले कलर का हो जाता है तब हम इसे खाने के लिए इस्तेमाल करते हैं। अकेली छोटे और बड़े दोनों अगर में होते हैं यह लगभग 7 से 8 इंच के भी हो सकते हैं और इनका उपयोग पूजा पाठ में भी किया जाता है।

एक केले का वजन लगभग 125 ग्राम होता है जिसमें 75% पानी होता है और 25% सूखा सामग्री होता है जिसे हम खाते हैं केले का छिलका ऊपर कवच का काम करता है क्योंकि हम सिर्फ अंदर के फल को खा सकते हैं इसीलिए केले के बाहरी परत पर एक चिल्का होता है।

केले का वृक्ष यदि सूख जाए तो हमारे किसी काम करने रहता क्योंकि उसकी लकड़ियां जलाने योग्य नहीं रहती इसलिए किल का वृक्ष जब तक हमें फल देता है अभी तक वह जीवित रहता है एक बार किसी केले के वृक्ष में फल आ जाए तो वह सूख जाता है और उसकी जगह पर उसी के जड़ से दूसरा वृक्ष तैयार होता है और इसी तरह से यह प्रक्रिया आगे बढ़ती रहती है जो लगभग 6 से 7 वर्ष तक चलती है।

वर्तमान समय में हमारे भारतवर्ष में बहुत तेजी से बढ़ रही है क्योंकि अब हर स्थान पर केले की खेती करना बहुत ही ज्यादा आसान हो गया है इसलिए भारी मात्रा में केले की खेती की जा रही है। केले की खेती करने के लिए हमें केले के वृक्ष को एक लाइन से लगाना होता है और उसके नीचे ही पाइप लाइन बिछाने होती है ताकि उनको पर्याप्त जल मिलता रहे और इसी तरह से उनको धीरे धीरे बड़ा होने के लिए खाद एवं अन्य पदार्थ दिए जाते हैं जिससे वह नष्ट न होने पाए और हमें बहुत ही कम समय में अधिक और फल दे।

केले के प्रजाति में भी अब कई प्रकार के अकेले आने लगे हैं और उनके वृक्ष भी आप बहुत अलग होते हैं कई वृक्ष बहुत छोटे होते हैं और हमें फल देने लगते हैं और कई वृक्ष काफी बड़े होने के बाद हमें फल देते हैं उसी हिसाब से उनके फल का भी साइज होता है वृक्ष छोटे होने पर केले के साइज छोटी होती है और वृक्ष बड़े होने पर केले का आकार बड़ा होता है।

केला खाने से हमारे शरीर का पाचन सही होता है और हमारे शरीर में किसी तरह की बीमारियां बहुत कम होने लगती हैं। केले में विटामिन 6 पाया जाता है जो गर्भवती महिला के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है यदि गर्भवती महिला के लिए को खाती है तो बच्चा बहुत जल्दी विकसित होता है।

हमारे भारत देश में रक्तचाप की बीमारी बहुत अधिक है जिसे इंग्लिश में ब्लड प्रेशर कहा जाता है केले का सेवन करने से रक्तचाप नियंत्रण में रहता है अर्थात केला खाने से यह बीमारी के लिए बहुत ही कारगर साबित होता है। केले का सेवन दिल के रोगियों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है।

Read Also – Information About Neem Tree In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों की हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया banana tree information in hindi। आपको यह विषय पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यद्यपि आप चाहते हैं कि हम इसी banana tree information in hindi तरह के विषय पर अन्य जानकारी दें तो आप उसके लिए भी में कमेंट कर सकते हैं हम आपको उसी समय अवश्य जानकारी देंगे।

Leave a Comment