Monday, February 6, 2023

किरण बेदी जी के बारे में जानकारी 2021 | Biography of kiran bedi in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं किरण बेदी जी के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है biography of kiran bedi in hindi। किरण बेदी का नाम हम सभी ने एक न एक बार अवश्य सुना होगा लेकिन उसके जीवन के बारे में हमें अधिक जानकारी नहीं है जिस वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि kiran bedi in hindi , kiran bedi biography in hindi इसलिए मैं आज आप को उनके बारे में बताऊंगा।

तो चलिए शुरू करते हैं।

किरण बेदी के बारे में जानकारी | Biography of kiran bedi in hindi | kiran bedi biography in hindi

INFOGYANS

किरण बेदी का जन्म 9 जून 1949 में हमारे भारत राष्ट्र के पंजाब राज्य में अमृतसर शहर में हुआ था। किरण बेदी के पिता का नाम प्रकाश पेशावरिया था तथा उनकी माता का नाम प्रेम पेशावरिया था। इनके पिता एक कपड़े के व्यापारी थे और साथ ही एक टेनिस खिलाड़ी भी थे।

उनके पिता खेल टेनिस के खिलाड़ी होने की वजह से किरण बेदी बहुत ही कम समय में टेनिस के खिलाड़ी बनने में रूचि लेने लगी और उन्होंने जब टेनिस खेलना शुरू किया तब उनकी आयु मात्र 9 वर्ष की थी लेकिन उस समय हमारे भारतीय समाज में महिलाओं के प्रति जागरूकता नहीं थी।

किरण बेदी अपनी आरंभिक शिक्षा अमृतसर के सेक्रेड हार्ट कन्वेंट स्कूल में की और साथ ही साथ खेल में भी मेहनत करने लगी और साथ ही उन्होंने नेशनल कैडेट कॉर्प्स भी ज्वाइन किया और कई सारी गतिविधियों में वह शामिल रहती थी।

किरण बेदी जब 17 वर्ष की आयु की थी अर्थात सन 1966 में उन्होंने राष्ट्रीय जूनियर टेनिस चैंपियनशिप जीता और सन 1965 से लेकर सन 1978 तक किरण बेदी ने कई सारे राज्य के स्तर पर चैंपियनशिप जीती।

अपने आरंभिक शिक्षा पूर्ण करने के बाद किरण विधि स्नातक डिग्री के लिए सन 1968 में अमृतसर के गवर्नमेंट कॉलेज से इंग्लिश में स्नातक की डिग्री प्राप्त करें। और सन 1970 में किरण बेदी ने पंजाब यूनिवर्सिटी से राजनीति विज्ञान की मास्टर डिग्री में टॉप किया और हमारे भारतीय समाज के मुंह पर ताला मार दिया कि महिलाएं भी पुरुषों से कम नहीं है क्योंकि हमारा देश तब पुरुष प्रधान देश था।

इनकी ऐसी लगन और मेहनत की वजह से उन्हें दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ की पढ़ाई के लिए प्रेरित किया गया और किरण बेदी सन 1988 में पुलिस में डायरेक्ट जनरल के पद पर होने के साथ-साथ दिल्ली यूनिवर्सिटी से लॉ में भी डिग्री प्राप्त की।

किरण बेदी सन 1972 में आईपीएस बनी और या भारत की पहली आईपीएस महिला थी क्योंकि उससे पहले महिलाओं के प्रति हमारे समाज की सोच बहुत अलग थी और इनके आईपीएस बनने के बाद महिलाओं में बदलाव की उम्मीद जगने लगी।

किरण बेदी टेनिस प्लेयर

किरण बेदी की योजना वर्ष की थी तब उन्होंने टेनिस खेलना शुरू किया था। और 1966 में वह जूनियर नेशनल चैंपियनशिप जीती। और सन 1965 से लेकर सन 1978 तक वह कई सारे चैंपियनशिप जीती लेकिन उनको पब्लिक सर्विस करना था।

विवाह

किरण बेदी का विवाह बृज बेदी के साथ 9 March 1972 में की गई थी ब्रिज बेदी एक टेनिस के खिलाड़ी थे और उनसे मुलाकात यह टेनिस कोर्ट में हुई थी और शादी के पश्चात इनको एक पुत्री प्राप्त हुई जिसका नाम इन्होंने सायना रखा था लेकिन दुखद बात यह है कि उनके पति सन 2016 में कैंसर की वजह से मर गए।

करियर

किरण बेदी सन 1984 में नई दिल्ली में रेलवे सुरक्षा बल में उप कमांडेंट के रूप में कार्य किया है इसी साल उन्होंने औद्योगिक विकास विभाग में भी निदेशक के रूप में कार्य किया
किरण बेदी सन 1985 में नई दिल्ली के पुलिस मुख्यालय का कार्यभार संभाला
सन 1986 में उत्तरी दिल्ली में डीसीपी के रूप में किरण बेदी ने लोगों की सेवा की।
किरण बेदी सन1988 में दिल्ली में उप निदेशक और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो में भी कार्य किया है
सन 1990 में किरण बेदी ने मिजोरम राज में डिप्टी कलेक्टर जर्नल स्वरूप भी कार्य किया है।
किरण बेदी दिल्ली की आईजी सन 1993 में बनी
हिरण की सन 2007 में अपने व्यक्तिगत कारणों की वजह से पुलिस सेवा से इस्तीफा दिया

सामाजिक कार्यों

किरण बेदी सन 1986 में दिल्ली में डीसीपी के तौर पर कार्य कर रहे थे उस दौरान उन्होंने ट्रक पर काबू पाने के लिए डिटॉक्स सेंटर की शुरुआत की और साथ ही उन्होंने 17 पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर नवज्योति पुलिस फाउंडेशन की स्थापना की इस संस्था का कार्य ड्रग एडिक्ट लोगों को ट्रक से पीछा छुड़ाने का था।

सन 1994 में किरण बेदी ने India vision foundation को भी सेट किया जिसका कार्य पुलिस सुधार कैदियों की स्थिति सुधार महिला सशक्तिकरण और ग्रामीण एवं कम्युनिटी विकास के लिए कार्य कर रहे थे। और किरण बेदी ने दो एनजीओ की भी शुरुआत करी एनजीओ का नाम नवज्योति और इंडिया विजन फाउंडेशन था।

विवाद

किरण बेदी पर कई सारे विवादों में उलझ ही थे तथा उनको कई तरह के विवादों का सामना करना पड़ा जैसे सन 1983 में जब वह गोवा में एसपी थी तब उन्होंने जौरी ब्रिज का आम जनता के लिए उद्घाटन करके खुद को एक बहुत बड़े विवाद में डाल दिया था और उसके बाद उन्होंने अपनी बेटी साइना के देखभाल के लिए छुट्टी का आवेदन गोवा सरकार से किया तब भी वह एक बहुत बड़े विवाद में फंसी।

प्रताप सिंह राने जो उस समय के गोवा के मुख्यमंत्री थे उन्होंने किरण बेदी को छुट्टी देने से इनकार कर दिया और किरण बेदी ने दिल्ली के लाल किले पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करने का आदेश दिया था तब भी हुआ एक बहुत बड़े विवाद में फंसी थी।

पुरस्कार

1968 एनसीसी कैडेट अधिकारी पुरस्कार
1972 पहली महिला आईपीएस ऑफिसर
1976 नेशनल वुमन लॉ टेनिस चैंपियनशिप
1979 अकाली निरंकारी संघर्ष के दौरान हिंसा को रोकने के लिए राष्ट्रीय वीरता का पुरस्कार
1980 वुमन ऑफ द ईयर का पुरस्कार
1992 में इंटरनेशनल वुमन अवार्ड।
1994 सरकारी सेवा के लिए रमन मैग्सेस पुरस्कार
1995 लाइंस ऑफ द ईयर का पुरस्कार
2004 यूनाइटेड नेशनल
2005 मदर टेरेसा मेमोरियल राष्ट्रीय पुरस्कार
2006 सबसे अधिक प्रशंसित महिला के रूप में
2009 महिला उत्कृष्टता पुरस्कार आज तक टीवी चैनल से
2013 ऑनरी डिग्री ऑफ डॉक्टर ऑफ पब्लिक सर्विस पुरस्कार
2014 लोरियल पेरिस फेमिना महिला पुरस्कार

Read Also – Gautam adani biography in hindi

निष्कर्ष

हमने अभी आपको इस ब्लॉग में बताया biography of kiran bedi in hindi। अगर आपका कोई सवाल है तो आप हम से कॉमेंट में पूछ सकते हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,701FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles