रेखा जी के बारे में जानकारी 2021 | Biography of rekha in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में रेखा जी के बारे में बताने वाले हैं अर्थात आज का हमारा विषय है biography of rekha in hindi। रेखा जी का नाम हम सभी ने सुना है तथा उनके द्वारा बनाई गई फिल्मों को भी हमने देखा है लेकिन उनके जीवन शैली एवं कार्यों के बारे में हमें संपूर्ण जानकारी ना होने की वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि rekha ka jivan parichay , Rekha biography in hindi इसलिए मैं आज आप को उनके बारे में बताऊंगा।

तो चलिए शुरू करते हैं।

रेखा जी के बारे में जानकारी | Biography of rekha in hindi | rekha ka jivan parichay

biography of rekha in hindi

रेखा जी का पूरा नाम भानुरेखा गणेशन है इनका जन्म 10 अक्टूबर 1954 में हमारे भारत देश के मद्रास राज्य में हुआ था इनके पिता का नाम जैमनी गणेशन था तथा इनकी माता का नाम पुष्पावली था। इनकी माता-पिता दोनों ही तमिल के फिल्मों में एक बड़े अभिनेता तथा अभिनेत्री थे।

ऐसा बताया जाता है कि इनका पिता जेमिनी गणेशन अपनी एक फिल्म जिसका नाम मिसमालिनी था उसके दौरान इनकी माता पुष्पा वली से मुलाकात हुआ और इन दोनों ने गुप्त तरीके से विवाह कर लिया तत्पश्चात इनको एक पुत्री प्राप्त हुई जिनका नाम इन्होंने भानू रेखा रखा और इस बात का पता जब लोगों को चला सब लोगों ने यह अफवाह फैलाई की यह बेटी इनकी अवैध तरीके से हुई है क्योंकि इन्होंने अभी तक शादी नहीं की लेकिन उनके द्वारा गुप्त शादी का अंदाजा किसी भी व्यक्ति को नहीं था।

रेखा जी के पिता पहले से ही शादीशुदा थे जिन की पहली पत्नी का नाम अलमेलु था इस वजह से वह अपनी दूसरी पत्नी का इजहार लोगों के सामने खुलकर नहीं कर पाए और इसलिए उन्होंने भानुरेखा को अपनी पुत्री मानने से इनकार कर दिया एवं इसके पश्चात उनको तीन अन्य संतानों की प्राप्ति हुई लेकिन तब तक इनके पिता ने इनकी मां को लोगों के सामने ना ला सके।

इसी तरह 10 साल गुजर गए और इसके पश्चात इनके पिता और एक तेलुगू अभिनेत्री जिसका नाम सावित्री था इनके संबंधों के बारे में लोगों द्वारा अफवाह फैलाने जाने लगी जिस वजह से इनकी माता को इस बात का बहुत बुरा लगा और वह अपने पति को छोड़कर अलग घर में रहने लगी और जब इनकी पिता की तेलुगू फिल्म आई तब इनकी माता का स्वास्थ्य बहुत खराब हो चुका था। तथा इनकी आर्थिक स्थिति भी बहुत बिगड़ चुकी थी जिस वजह से रेखा ने अपना पढ़ाई बीच में ही छोड़कर तेलुगू के फिल्मों में कार्य करने लगी और यह जब कार्य करना शुरू की तब इनकी आयु मात्र 14 वर्ष थी शुरुआती दौर में इनको इस तरह के कुछ भी शौक नहीं थे यह सिर्फ आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से शुरू की थी।

जब यह तेलुगू फिल्म में कार्य किया करती थी तब लोग इनको कई तरह के नाम से बुलाते थे जिस वजह से यह तेलुगु फिल्म को छोड़कर बॉलीवुड में आना चाहती थी लेकिन इनको हिंदी ना आने की वजह से उनके सामने और एक समस्या उत्पन्न हुई लेकिन यह अपने साथ में रहने वाले हिंदी लोगों से हिंदी सीखी तत्पश्चात उन्होंने बॉलीवुड में अपना कदम रखा।

रेखा की प्रारंभिक शिक्षा चर्च पार्क कन्वेंट स्कूल में कराने के लिए दाखिला कराया गया लेकिन इनके घर की आर्थिक स्थिति अत्यधिक खराब होने की वजह से इन्होंने अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़कर कार्य करना आरंभ कर दिया।

Rekha ने आरंभ में जब अपना कदम बॉलीवुड में रखा था तब इनको हिंदी इतनी अच्छी तरीके से नहीं आती थी जिस वजह से इनको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता था लेकिन उन्होंने कड़ी मेहनत कर हिंदी सीखी तथा उनकी पहली फिल्म बॉलीवुड में आई सावन भादो यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बहुत हिट रहे लोगों द्वारा इस फिल्म की काफी सराहना की गई जिस वजह से रेखा जी इसी फिल्म से एक बहुत बड़े सुपरस्टार बन गए लेकिन कुछ लोगों को यह तब भी पसंद नहीं आ रही थी क्योंकि इनका रंग सांवला था।

70 के के दशक में इन्होंने कई हिट फिल्में दी है जिनका नाम मुकद्दर का सिकंदर सावन भादव घर मिस्टर नटवरलाल नमक हराम इत्यादि है। इस दशक को खत्म होने के पश्चात सन 1980 के दशक में यह एक मंजे हुए कलाकार बन चुकी थी जिस वजह से इनके द्वारा की जाने वाली फिल्म लोगों को पसंद आने लगी थी और जो लोग इन को बदसूरत कहते थे अब वही लोग कोई यह खूबसूरत लगने लगी थी इन्होंने 80 के दशक में कई कॉमेडी किरदार निभाया है।

80 के दशक में की गई इनके द्वारा फिल्में का नाम खूबसूरत बहु रानी झूठी एक ही भूल उमराव जान खून भरी मांग मांग भरो साजन तथा सिलसिला है यह सभी फिल्में इतनी हिट रहे जिस वजह से इन को कई तरह के अवार्ड भी दिए गए हैं। 1990 के दशक में जब नई हीरोइनों की एंट्री हुई जिनका नाम काजोल माधुरी दीक्षित रवीना टंडन जूही चावला था तब उनके करियर पर थोड़ा असर पड़ा क्योंकि यह सभी इनसे हर मामले में आगे थी इन्होंने इस दशक में कई फिल्में करी लेकिन उनमें से कुछ ही हिट रही सन 1990 के दशक में की गई इनके द्वारा फिल्मों का नाम खिलाड़ियों का खिलाड़ी मेरा पति सिर्फ मेरा है मैडम एक्स इंसाफ की देवी तथा अमीरी गरीबी।

रेखा जी का बचपन भले ही गरीबी में गुजरा लेकिन वर्तमान समय में उनके पास करोड़ों की संपत्ति है वह एक फिल्म में अभिनय करने का दो से तीन करोड रुपए लेती है तथा इनकी वार्षिक इनकम ₹400000000 है।

अवार्ड

रेखा जी को उनके द्वारा की गई फिल्मों के लिए कई सारे अवार्ड प्राप्त हुए हैं

सन 1989 में फिल्म फेयर अवार्ड
1982 में नेशनल फिल्म अवार्ड
1997 में फिल्म फेयर तथा स्क्रीन अवार्ड
सन 2003 में फिल्म फेयर तथा आईफा अवार्ड
सन 2004 में बॉलीवुड मूवी अवॉर्ड
सन 2006 में ज़ी सिने अवॉर्ड
सन 2010 में पद्मश्री से सम्मानित की गई
सन 2012 में इनको दो बार आइफा अवार्ड प्राप्त हुआ
सन 2016 में दुबई इंटरनेशनल तथा स्टारडस्ट अवॉर्ड

Read Also – Jaya kishori biography in hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में biography of rekha in hindi। अगर आपको इनके बारे में जानकर अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और अपने सवाल को आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Leave a Comment