Sunday, January 29, 2023

क्रिस्टीयानो रोनाल्डो के बारे में जानकारी 2021 | Cristiano ronaldo biography in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में क्रिस्टीयानो रोनाल्डो के बारे में बताने वाले हैं अर्थात आज का हमारा विषय है cristiano ronaldo biography in hindi। क्रिस्टियानो रोनाल्डो का नाम हम सभी ने सुना है और हम सभी को वह पसंद भी हैं लेकिन लोगों को उनके जीवन शैली एवं कार्यों के बारे में नहीं पता जिस वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि ronaldo biography in hindi , cristiano ronaldo in hindi इसलिए मैं आपको आज उनके बारे में बताऊंगा।

तो चलिए शुरू करते हैं।

क्रिस्टीयानो रोनाल्डो के बारे में जानकारी | Cristiano ronaldo biography in hindi | ronaldo biography in hindi

INFOGYANS

क्रिस्टियानो रोनाल्डो का जन्म सन 1985 में फरवरी माह के पांचवी तारीख को पुर्तगाल में हुआ था उनके पिताजी का नाम जोस डिनिस अवीयरो था तथा इनकी माता का नाम मारिया डालोरेस डॉस सैंटोस अवीयरो था। इनके पिता नगर पालिका में एक माली के रूप में कार्य किया करते थे तथा इनकी माता लोगों के घरों में जाकर खाना बनाने का कार्य करती थी क्रिस्टीयानो रोनाल्डो टोटल चार भाई बहन थे इनका एक भाई और दो बहने हैं और क्रिस्टियानो रोनाल्डो सबसे छोटे हैं।

Cristiano Ronaldo के कुल 4 बच्चे हैं लेकिन इनकी मां कौन है इसके बारे में अभी तक पूर्णता जानकारी हमें प्राप्त नहीं हुई और ना ही उन्होंने इस बात का कभी खुलासा किया इन चारों बच्चों में सबसे बड़े वाले बेटे का नाम क्रिस्टियानो रोनाल्डो जूनियर है इसका सन 17 जून 2010 में हुआ था।

Cristiano Ronaldo के अन्य बच्चे मातेओ तथा ईवा मारिया है यह दोनों उनके जुड़वा बच्चे हैं जिनका जन्म 8 जून 2017 में हुआ था और इनकी सबसे छोटी बेटी अलाना का जन्म 12 नवंबर 2017 में हुआ। Cristiano Ronaldo एक सामान्य परिवार से होने की वजह से उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा हासिल नहीं की और कुछ लोग ऐसा भी कहते हैं कि जब वह 14 वर्ष के थे तब उन्होंने अपने स्कूल के टीचर पर कुर्सी फेंक के मारा था जिस वजह से उनको स्कूल से निकाल दिया गया लेकिन रोनाल्डो को बचपन से ही फुटबॉल खेलने मैं बहुत रुचि रहती थी जिस वजह से वह अपना भविष्य से गेम में बनाने को इच्छुक थे।

इसी कारण बस रोनाल्डो ने अपनी पढ़ाई को बीच में छोड़ दिया और ऐसा करने पर उनकी मां ने उनका साथ दिया। लेकिन जब यह 14 वर्ष की आयु में फुटबॉल खेला करते थे तब इनको एक बीमारी का पता चला जिसका नाम रेसिंग हार्ड बीमारी है इस बीमारी के कारण वश रोनाल्डो को फुटबॉल खेलना असंभव सा हो गया था क्योंकि इस बीमारी के दौरान लोगों के दिल की धड़कन बहुत तीव्रता से चलती है और इस वजह से ज्यादा दौड़ना या उछल कूद करना उनके लिए जानलेवा हो सकता था।

इस बीमारी का पता चलते ही इनके परिवार में इनका इलाज करवाना शुरू किया और उसके पश्चात जब बैठे हुए थे तभी आराम करने के बजाय अपना फुटबॉल खेलना शुरू कर दिया और हम आपको बता दें कि रोनाल्डो किसी भी तरह के नशे का सेवन नहीं करते क्योंकि इनके पिता की मृत्यु अत्यधिक शराब पीने की वजह से 52 वर्ष की आयु में हो गई थी जिस वजह से रोनाल्डो खुद को इन सभी चीजों से दूर रखते हैं।

करियर

रोनाल्डो जब 16 वर्ष की आयु के थे तब उन्होंने स्पोटिंग सिटी क्लब के हिसाब से और इस क्लब का हिस्सा बनने के मात्र 1 वर्ष के अंदर रोनाल्डो ने अंडर 16 टीम अंडर 17 टीम अंडर 18 टीम बी और फास्ट टीम के लिए खेलना शुरू कर दिया और यह पहले ऐसे खिलाड़ी बने जिन्होंने मात्र 1 वर्ष के अंदर इतना आगे बढ़े हैं।

Ronaldo ने अपना पहला प्राइमिरा लीगा मैच सन 2002 में खेला और यह खेल उन्होंने मोरे रेंस फुटबॉल क्लब की विपरीत खेला था और इस खेल में इन्होंने दो गोल किए थे और इस खेल में इनका अच्छा प्रदर्शन देखते हुए कई सारे फुटबॉल क्लब का ध्यान उनकी ओर गया और कई सारे क्लब अपनी टीम का हिस्सा बनाना चाहते थे।
तत्पश्चात स्पोर्टिंग क्लब के साथ मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब के साथ एक मैच हुआ और इस खेल में रोनाल्डो ने दो गोल किया और उनकी टीम 3-1 से विरोधी टीम को हरा दी और इस मैच के बाद रोनाल्डो को मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब अपनी टीम में लेने की इच्छा प्रकट किए।

इनके इतनी कम उम्र में इतना अच्छा प्रदर्शन करने की वजह से कई सारे लोग इनको अपने टीम में शामिल करना चाहते थे। और इसीलिए सन 2003 में मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब ने क्रिस्टाइना रोनाल्डो को स्पोर्टिग क्लब खरीद लिया। इस टीम में शामिल होने के पश्चात रोनाल्डो को कई तरह की ट्रेनिंग दी गई जिस वजह से उनका खेल और भी बेहतरीन हो क्या और सन 2004 में मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब की तरफ से एफए कप में इनको खेलने का मौका मिला और इस खेल में रोनाल्डो ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया और अपनी टीम को जिताने में मदद की और इस खेल के फाइनल में रोनाल्डो ने तीन गोल किए और सन 2006 तक इनके नाम कुल 26 गोल कर दिए गए थे।

वर्ष 2006 से लेकर 2008 तक का सफर रोनाल्डो के लिए काफी अच्छा साबित रहा और इस दौरान इनके क्लब द्वारा इनको सात नंबर की जर्सी दी गई और यह साथ नंबर उस क्लब के महान खिलाड़ी से जुड़ा हुआ था जिस वजह से रोनाल्डो ने सात नंबर की जर्सी लेने से इनकार कर दिया इसके बावजूद भी उनको सात नंबर की जर्सी प्रदान की गई।

मैनचेस्टर यूनाइटेड फुटबॉल क्लब को छोड़कर रोनाल्डो ने सन 2009 में मेड्रिड क्लब जुड़ गए यह क्लब स्पेन से जुड़ा हुआ था और इस क्लब ने रोनाल्डो को 80 मिलियन पाउंड में खरीदा था। रोनाल्डो जब इस क्लब में ज्वाइन हुए तब इनको 9 नंबर की जर्सी की गई क्योंकि साथ नंबर की जर्सी इस क्लब के पहले से एक खिलाड़ी के पास मौजूद थी लेकिन उस खिलाड़ी ने रोनाल्डो के लिए सात नंबर की जर्सी को छोड़ दिया जिस वजह से पुनः रोनाल्डो को सात नंबर की जर्सी प्राप्त हुई।

Read Also – Aishwarya rai biography in hindi

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस ब्लॉग में बताया cristiano ronaldo biography in hindi। अगर आपका इनके बारे में जानकारी अच्छा लगा हो तो आपसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यदि आपका कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,685FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles