बाज चिड़िया की जानकारी 2021 | Eagle Bird Information In Hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताएंगे बाज चिड़िया के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है eagle bird information in hindi। बाज चिड़िया हम सब भी को वर्तमान समय में बहुत कम देखने को मिलती है क्योंकि यह धीरे-धीरे विलुप्त होने के कगार पर है और कुछ लोगों को इसके बारे में अभी तक संपूर्ण जानकारी नहीं है इसलिए आज मैं आपको इस ब्लॉग में यह सभी विषय पर जानकारी दूंगा जैसे कि about eagle in hindi , eagle information in hindi , baaj bird

तो चलिए शुरू करते हैं

बाज चिड़िया की जानकारी | eagle bird information in hindi | about eagle in hindi

बाज चिड़िया की जानकारी 2021 | Eagle Bird Information In Hindi

बाज एक ऐसा पक्षी है जो सभी पक्षों में सबसे ज्यादा ताकतवर और सबसे ज्यादा चालाक होता है यह लंबी उड़ान भरने के लिए बने हैं यह एक बार आसमान में उड़ने लगते हैं तो यह उड़ते उड़ते काफी ऊपर तक चले जाते हैं लेकिन यह वहां से भी बहुत ही आसानी से जमीन पर पड़े अपने शिकार को देख लेते हैं और वहां से डायरेक्ट ऊंचे पंजा मार कर उठा ले जाते हैं।

बाज एक ऐसा पक्षी है जो पूरी दुनिया में पाया जाता है और यह हमारे भारत में भी पाया जाता है भारत में और हमेशा भी कह सकते हैं कि पूरी दुनिया में बाज की अब तक 60 प्रजातियों को खोजा जा चुका है।

बाज अपना घोंसला जब भी बनाते हैं याद तो वह ऊंचे पेड़ों पर बनाते हैं या फिर चट्टानों एवं पहाड़ों में बनाते हैं लेकिन यह एक ऐसा पक्षी है जो दूसरे पक्षियों के घोंसले पर भी अपना अधिकार जमा लेता है क्योंकि दूसरे पक्षी इससे जीत नहीं पाएंगे। बाज हमें रेगिस्तानी और पहाड़ी इलाकों में अधिक देखने मिलते हैं।

बाज पक्षी की चोंच बहुत ही नुकीली और ताकतवर होती है जिसकी वजह से यह अपने शिकार को बहुत ही आसानी से फाड़ कर खा सकता है और इसकी सोच किसी भी शिकार को मार गिराने में इसकी बहुत मदद करती हैं उसकी लगभग 90 डिग्री के एंगल पर मुड़ी हुई रहती हैं।

बाज के पंजे भी बहुत ताकतवर होती है या किसी भी छोटे जानवर को आसानी से अपने पंजों में दबोच कर उड़ा ले जा सकते हैं इनके पंजे शिकार को पकड़ने के लिए बहुत मदद करते हैं।

बाज की आंखें बहुत तीव्र होती है यह उड़ते आसमान से भी नीचे धरती पर मौजूद किसी भी जानवर को जो छोटे से छोटा है उसे देख सकता है। इसकी तीव्र आखों की वजह से यह आसमान से अपने शिकार को देखकर उस पर हमला करके उनको मार गिराता है।

बाज के पंख उसकी बहुत ज्यादा मदद करते हैं और यह पंख बहुत मजबूत होने की वजह से यह लंबे समय तक उड़ान भर सकता है बिना थके हुए काफी अधिक ऊंचाई तक उड़ सकते हैं उतना सामान पक्षियों के लिए मुश्किल है लेकिन यह बहुत ही आसानी से बादल के उस पार तक भी जा सकते हैं।

जैसा कि हम सभी को पता है कि बाज कई प्रजातियों के होते हैं और इसी वजह से इनके रंग बिन के प्रजातियों के ऊपर निर्भर करते हैं कई बाज का रंग सफेद काला और भूरे रंग का होता है लेकिन यह इनके प्रजाति पर निर्भर करता है।

एक वयस्क बाज जब पूरी तरह से बढ़ जाते हैं तब इनका वजन लगभग 10 किलो तक हो जाता है और इनकी बढ़ती उम्र के साथ-साथ इनके पंजे और उनके नाखून और भी अधिक मजबूत और नुकीले होते जाते हैं।

जैसा कि हमने अभी आपको बताया कि यह बहुत ऊंची उड़ान भर सकते हैं लेकिन आपको पता है यह लगभग 12000 फिट तक बहुत ही आसानी से उड़ सकते हैं और इनके उड़ने की रफ्तार 210 किलोमीटर प्रति घंटा होती है । यह इतनी रफ्तार से उड़ सकते हैं जितना अन्य पक्षियों के लिए उड़ना संभव नहीं है।

बाजे शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह का पक्षी है यह शाकाहारी भोजन बहुत कम और मांसाहारी भोजन अधिक करता है यह कभी मछलियों को देखते हैं तो यह पानी में गोते लगाकर उस मछली को पकड़ लेते हैं और आपको यह बात जानकर हैरानी होगी कि या आसमान में जब लगभग 5 किलोमीटर दूर उड़ रहे होते हैं वहां से यह मछलियों को देख सकते हैं।

मादा बाद एक बार में एक से तीन अंडे देती है और यह उन अंडे को लगभग 32 दिनों तक सेती है 32 दिनों के बाद यह अंडे बच्चे का आकार ले लेते हैं और यह बच्चे के रूप में परिवर्तित हो जाते हैं। और जो नर बाज होता है वह उनको शिकारी पक्षियों एवं अन्य जानवरों से बचाता है और मादा बाज और बच्चों के लिए भोजन उपलब्ध करता है।

बाज धरती पर लगभग 70 वर्षों तक जीवित रह सकते हैं लेकिन हम आपको एक बात बता दें कि यह 40 वर्ष तक एकदम तेजी और फुर्ती के साथ शिकार करते हैं और उड़ते हैं लेकिन जब यह 40 वर्ष से अधिक होने लगते हैं तब उनका शरीर ढीला पड़ जाता है और यह स्वीकार करने में असमर्थ हो जाते हैं जिस वजह से कई बाजों की मृत्यु हो जाती है।

वर्तमान समय में हमारे धरती पर बाज के लगभग 4 प्रजातियों को खोजा गया है लेकिन अब धीरे-धीरे नष्ट होने की कगार पर है हमारे भारत देश में बाज की मात्रा बिल्कुल भी कम हो गई है। अगर आपको हमारे भारत देश में बाज को देखना है तो उसके लिए आपको चिड़ियाघर में जाना पड़ेगा क्योंकि ऐसे में बाज हमें देखने नहीं मिलते।

बात जब हमारे धरती पर जीवित थे तब इससे हमारे धरती पर पर्यावरण बहुत ज्यादा सुरक्षित रहता था क्योंकि यह बदबूदार जानवर जो मरे हुए रहते हैं उनको भी खाकर हमारे धरती को शुद्ध बनाता था लेकिन जब से यह विलुप्त होने की कगार पर आते जा रहे हैं वैसे हमारे भारत देश में अब और भी प्रदूषण फैलता जा रहा है। अन्य देशों में भी बाज की मात्रा बहुत कम हो गई है बस कुछ ही आसान पर आपको बाज देखने मिलते हैं।

Read Also – Tirupati Balaji Mandir Information In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया eagle bird information in hindi। अगर आपको यह पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यद्यपि आप चाहते हैं कि हम इसी तरह के eagle bird information in hindi अन्य विषय पर भी जानकारी दें तो आप उसके लिए हमें कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment