Monday, February 6, 2023

राजहंस पक्षी के बारे में जानकारी 2023 | Flamingo Bird Information In Hindi

Flamingo Bird Information In Hindi : दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं राजहंस पक्षी के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है Flamingo bird। राजहंस पक्षी के बारे में लोगों को अभी भी बहुत तरह की जानकारियां नहीं पता है और कुछ लोग तो अभी इसका नाम भी नहीं सुना ही होंगे। मैं आपको इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दूंगा क्योंकि गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते हैं जिससे कि Flamingo bird information in Hindi तो चलिए शुरू करते हैं

राजहंस पक्षी के बारे में जानकारी ( Flamingo Bird Information In Hindi )

राजहंस पक्षी के बारे में जानकारी 2023 | Flamingo Bird In Hindi
Flamingo Bird Information In Hindi
COMMON NAME:Greater Flamingo
SCIENTIFIC NAME:Phoenicopterus
BirdsDIET: OmnivoreGROUP
WEIGHT 8.75 pounds
SIZE:36 to 50 inches

Flamingo एक तरह का पंछी है जिसे हिंदी में राजहंस पक्षी के नाम से जाना जाता है यह पक्षी जो उथरे झीलों खारे पानी के झील दलदल एवं रेतीले क्षेत्रों में पाए जाते हैं।

पूरे दुनिया भर में हंस की 6 प्रजातियां पाई जाती हैं। बड़े राजहंस अर्थात ग्रेटर फ्लैमिंगो सबसे बड़ी प्रजाति होती है जिसकी ऊंचाई 5 फीट तक और उनका वजन 3 किलोग्राम होता है यही प्रजाति सबसे बड़ी होती है। राजहंस की प्रजाति अफ्रीका दक्षिणी यूरोप भारतीय उपमहाद्वीप और दक्षिणी पश्चिमी एशिया में पाए जाते हैं।

लेकिन इनकी मात्रा बहुत कम होती है क्योंकि पूरे विश्व में छोटे राज हंसों की प्रजाति है सबसे अधिक पाई जाती है जो हमारे भारत देश के उत्तरी और पश्चिमी क्षेत्रों में पाए जाते हैं और अफ्रीका के सहारा क्षेत्र में यह प्रजातियां पाई जाती है इनकी ऊंचाई 3 फीट तक होती है और इनका वजन 2.5 किलोग्राम होता है।

हम आपको बता दें कि यह जो राजहंस है वह अपनी जिंदगी यदि स्वयं जीते हैं अर्थात जंगलों में अपना जीवन व्यतीत करते हैं तब इनका जीवन 20 से 30 वर्ष के बीच में समाप्त हो जाता है और यदि आप इन राजहंस शो को चिड़िया घरों में देखते हैं तो यह 50 वर्षों तक जीवित रह सकते हैं।

राजहंस पक्षी के बारे में जानकारी 2023 | Flamingo Bird In Hindi
Flamingo Bird Information In Hindi

Read Also – राजहंस पक्षी के बारे में जानकारी

Flamigo Bird राजहंस के पैर उनके शरीर से काफी अधिक लंबे हो सकते हैं और कई बार इन राजहंस को एक पैर पर खड़े हुए देखा गया है लेकिन इस बात का अभी तक कोई निष्कर्ष नहीं निकला है कि यह एक पैर पर क्यों खड़े रहते हैं वैज्ञानिकों का ऐसा मानना है कि यह शरीर की गर्मी का निरीक्षण करने के लिए इस तरह के कार्य करते हैं लेकिन अभी तक इसके बारे में संपूर्ण जानकारी और शुद्ध निष्कर्ष नहीं निकल पाया है।

राजहंस हमें हमेशा झुंड में ही दिखाई देते हैं और कई बार तो यह एक हजार के समूह में रहते हैं ऐसा करने से को शिकारियों से बचने में मदद मिलती है और अधिक भोजन इन को प्राप्त होता है और साथ ही अपने घोसले तैयार करने में काफी मदद इनको प्राप्त होती है ऐसा इसीलिए यह लोग करते हैं और हमेशा झुंड में ही रहते हैं।

यह पक्षी बहमास देश का राष्ट्रीय पक्षी भी है और राज हंस के पंखों के नीचे के पंख काले रंग के होते हैं जो हमें सामान्यतः नहीं दिखाई देते हमें उनके इस पंख को देखने के लिए उस समय का इंतजार करना पड़ता है जब यह पक्षी उड़ रहे हो अर्थात हम इन पक्षियों के उस काले पंख को सिर्फ उड़ते समय ही देख सकते हैं।

राज हंस के प्रजाति को पालना कई लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है और खास करके उन लोगों के लिए जो मछली पालन का व्यापार करते हैं क्योंकि मछली पालन के तालाब में यदि राजहंस रहते हैं तो वह उनसे मछलियों एवं तलाब को सुरक्षित रखते हैं क्योंकि तालाब में सांप एवं अन्य कीड़े मकोड़ों को राजहंस खा जाते हैं।

INFOGYANS

राजहंस लोगों को बहुत ही ज्यादा पसंद आता है और कई लोग इनको सिर्फ अपने शौक के लिए पालते हैं इनका मांस बाजारों एवं अन्य किसी भी स्थानों पर नहीं पाया जाता है क्योंकि लोग इनके मांस का उपयोग करने के लिए इनको नहीं पालते हैं।

राजहंस के अंडे सामान्यता मुर्गी और बदक के अंडे से बहुत बड़ा होता है यह कई बीमारियों में काम आता है जो लोगों द्वारा इसका सेवन किया जाता है।

राजहंस के वैज्ञानिक नाम के बारे में किसी को भी नहीं पता होगा बहुत ही कम लोग जिनको यह बात पता है तो हम आपको बता दें कि राजहंस के वैज्ञानिक नाम फोनीकॉप्टरस रोज़ेयस है।

हमारे भारत देश में गुजरात एक ऐसा राज्य है जहां पर फ्लैमिंगो बर्ड बहुत ही अधिक मात्रा में पाई जाती हैं अर्थात इनकी अच्छी आबादी गुजरात में मौजूद है। Flamingo bird के कुछ अन्य पक्षियों से मोटे और तेरे होते हैं इनका उपयोग करके यह जल में कीड़े मकोड़ों और अन्य खाद्य पदार्थ जी ने यह खाते हैं उनको पकड़ने के लिए उपयोग करते हैं।

राजहंस पक्षी के पैर गुलाबी रंग के होते हैं और इनकी गर्दन लंबी होती है राजहंस एक ही रंग नहीं बल्कि कई रंगों में भी पाया जाता है सफेद रंग के राजहंस लोगों द्वारा बहुत ही ज्यादा पसंद किया जाता है यह प्रेम और शांति का प्रतीक है।

राजहंस प्राकृतिक तौर पर 20 से 30 वर्ष तक जीवित रह सकते हैं लेकिन कई बार इनको 40 वर्ष की आयु तक जीवित देखा गया है और आपको एक बात हम बता दें कि राजहंस बहुत अच्छा नृत्य और एक साथ परेड करते हैं यह एक साथ अपने एक पंख को एक तरफ और पैर को दूसरी तरफ फैला कर चलते हैं।

राज हम चलते समय अपने सर को नीचे करके और अपनी पूछ को ऊपर करके चलते हैं जो देखने में बहुत ही सुहाना लगता है।राजहंस अपने घोसले को मिट्टी की मदद से बनाते हैं जिससे वह गर्मी में सूख जाते हैं और उसके नीचे उनके अंडे रखने के लिए संपूर्ण स्थान बचा रहता है।

इन पक्षियों के जागो जागरूकता के लिए साल के 2 दिन इन पक्षियों के लिए समर्पित है जो International Flamingo Bird Day अंतरराष्ट्रीय राजहंस दिवस जो 26 अप्रैल को मनाया जाता है और राष्ट्रीय राजहंस दिवस जो 23 जून को मनाया जाता है। राजहंस गुलाबी रंग के लोगों को बहुत पसंद आता है क्योंकि यह कई रंगों में पाया जाता है इसीलिए लोग अपने पसंद अनुस्वार इनको पालते हैं।

निष्कर्ष – Conclusion of Birds in detail

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉक में लिखकर बताया Flamingo Bird Information In Hindi । अगर आपको यह विषय पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यदि आप अपने विषय पर भी जानकारी चाहते हैं तो आप उसके लिए भी हमें कमेंट कर सकते हैं

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,701FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles