इंदिरा गांधी के बारे में जानकारी 2021 | Indira Gandhi Information In Hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं इंदिरा गांधी के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है indira gandhi information in hindi। इंदिरा गांधी के बारे में तो सब ने सुना है लेकिन लेकिन उनके बारे में संपूर्ण जानकारी इकट्ठा कर पाना या जाना ना सभी के लिए मुमकिन नहीं है इसलिए मैं आज आपको एक ही ब्लॉग में सभी जानकारी देना चाहता हूं क्योंकि गूगल पर बहुत सारे ऐसे सर्च होते हैं information on indira gandhi in hindi , information of indira gandhi in hindi

तो चलिए शुरू करते हैं

इंदिरा गांधी के बारे में जानकारी | Indira Gandhi Information In Hindi | information on indira gandhi in hindi

इंदिरा गांधी के बारे में जानकारी 2021 | Indira Gandhi Information In Hindi

इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर सन 1917 में हुआ था। उनके पिता का नाम पंडित जवाहरलाल नेहरू और उनकी माता का नाम कमला नेहरू था उनकी इकलौती संतान थी अर्थात इनके अलावा पंडित जवाहरलाल नेहरु की और कोई संतान नहीं थी।

इंदिरा गांधी के पितामह मोतीलाल नेहरू धनी बैरिस्टर थे उत्तर प्रदेश और इलाहाबाद के। पंडित जवाहरलाल नेहरू भारतीय कांग्रेस के प्रमुख सदस्य थे और उन्होंने भी राष्ट्रीय पद संभाला था और पंडित जवाहरलाल नेहरू के पिता मोतीलाल नेहरू हमारे भारत देश को आजाद कराने में अर्थात भारतीय स्वतंत्र संग्राम में एक लोकप्रिय नेता रहे।

राधे की परवरिश अर्थात उनकी देखरेख उनकी मां की देखरेख में थी। इनकी मां बीमार रहने के कारण नेहरू परिवार के ग्रह संबंधी कार्यों से अलग रहा करती थी। इंदिरा गांधी के पिता मां और उनके पिता राष्ट्रीय राजनीति में उलझ जाने के लिए साथियों से मेलजोल मुश्किल कर दिया था अर्थात उनके पिता और उनके दादा अपने परिवार एवं अन्य लोगों को समय नहीं दे पाते तो राजनीति के कारण।

इंदिरा गांधी ने एक वानर सेना बनाई उस समय के युवा लड़के और लड़कियों के लिए ताकि वह उससे विरोध प्रदर्शन और झंडा जुलूस कर सके और साथ ही भारत स्वतंत्रता संग्राम में भी वजह से उन्होंने अपना एक छोटा सा योगदान दिया।

इंदिरा गांधी की मां सन 1936 में स्वर्गवासी हो गई अर्थात उनकी मृत्यु होगी जब उनकी मृत्यु हुई थी तब इंदिरा गांधी 18 वर्ष की थी जिस वजह से उनको कभी भी एक स्थिर पारिवारिक सुख का अनुभव नहीं हुआ।

इंदिरा गांधी की पढ़ाई भारतीय यूरोपियन तथा ब्रिटिश स्कूलों में हुई थी जैसे सांतिनिकेतन बैडमिंटन स्कूल और ऑक्सफोर्ड इन सभी में इंदिरा गांधी ने अपनी पढ़ाई पूर्ण की थी।

हम सभी को पता है कि इंदिरा गांधी हमारी प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनी थी और लगातार तीन बार तक प्रधानमंत्री रही अर्थात इन्होंने लगातार तीन बार प्रधानमंत्री के पद को जीता था।

इंदिरा गांधी के पति का नाम फिरोज गांधी का जिससे वह यूरोप और ब्रिटेन में रहते हुए मिली थी। फिरोज गांधी एक कांग्रेस कार्यकर्ता थे इंदिरा गांधी ने 16 मार्च 1942 में आनंद भवन इलाहाबाद में हो रहे एक ब्रह्म वैदिक समारोह में विवाह कर लिया।

इंदिरा गांधी को सितंबर 1942 में ब्रिटिश कर्मचारियों द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया और उनको गिरफ्तार करने का वजह भी नहीं बताया क्या अर्थात बिना किसी आरोपी को गिरफ्तार किया गया और 243 दिनों तक उनको कैद में रखा गया और उसके पश्चात 13 मई 1943 को उनको रिहा किया गया।

इंदिरा गांधी ने सन 1944 में राजीव गांधी को जन्म दिया और उसके पश्चात 2 साल बाद संजीव गांधी को जन्म दिया अर्थात उनकी दो संताने थी।

इंदिरा गांधी पर राजनीतिक प्रभाव उनके दादा और उनके पिताजी से पड़ा है क्योंकि उनके दादा और उनके पिताजी कांग्रेश राष्ट्रीय पार्टी की प्रमुख नेता थे इंदिरा गांधी ने हमारे भारत देश को भी आजाद कराने के लिए संघर्ष किया है।

इंदिरा गांधी ने सन 1955 में राष्ट्रीय कांग्रेस दल को ज्वाइन किया और उस समय उन्होंने अपने पिता जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में सभी कार्य किए उनके पिता जवाहर लाल नेहरू को परामर्श और उनकी बात पर अमल किया करते थे परमहंस देने का कार्य जवाहरलाल नेहरू करते थे।

1966 में इंदिरा गांधी प्रथम प्रधानमंत्री बनी थी महिला लेकिन जब तक वह प्रधानमंत्री बने तब तक कांग्रेस पार्टी दो दलों में विभाजित हो चुकी थी एक थी जो इंदिरा गांधी के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी और दूसरी मोरारजी देसाई रूढ़िवादी।

मोरार जी देसाई इंदिरा गांधी को गूंगी गुड़िया बुलाते थे 1967 के चुनाव में कांग्रेस ने आंतरिक समस्याओं की वजह से 60 पदों को खोकर 545 पदों में से 297 पदों को ही जीता जिस वजह से उन्हें देसाई वित्त मंत्री के रूप में लेना पड़ा।

1967 में देसाई जी और इंदिरा गांधी के ए परिस्थितियों में एक समान निर्णय ना होने की वजह से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी विभाजित हो गई और इंदिरा गांधी समाजवादी तथा साम्यवादी दलों का समर्थन पाकर अगले 2 वर्षों तक शासन किया।

भारत में जो पहला चुनाव हुआ 1951 में उनके पिता और पति रायबरेली निर्वाचन क्षेत्र में चुनाव लड़ रहे थे। इंदिरा गांधी के कार्यों के वजह से हुआ बहुत ज्यादा लोगों को पसंद आने लगी थी लेकिन कई स्थानों पर उनकी गलतियां भी बताई जाती है जो उनके विपक्षी दलों द्वारा बोला जाता था।

इंदिरा गांधी भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनी थी जिस वजह से वह बहुत ज्यादा चर्चा में रहे क्योंकि उस समय ऐसा था कि लड़कियों को अधिक पढ़ा लिखा या नहीं जाएगा उसके बावजूद भी इंदिरा गांधी इतने ऊंचे पद पर पहुंचे और लगभग 15 वर्षों तक अर्थात तीन बार चुनाव जीती और प्रधानमंत्री के पद को संभाल।

इंदिरा गांधी के नेतृत्व मेजर भारती सेना के साथ सन 1971 में पाकिस्तान के साथ युद्ध हुआ तब इंदिरा गांधी द्वारा बहुत ही महत्वपूर्ण जीत हासिल की गई उस विजय के पश्चात ही बांग्लादेश का निर्माण हुआ।

सन 1980 में जब लोकसभा का चुनाव हुआ तब फिर से एक बार कांग्रेस पार्टी सत्ता में आई इंदिरा गांधी भारतीय सेना को जून 1984 में स्वर्ण मंदिर मैं प्रवेश करने का आदेश दिया था कि वहां पर मौजूद छह आतंकवादियों को वहां से हटाया जा सके और उस ऑपरेशन का कोड वर्ड नाम था ऑपरेशन ब्लू स्टार जो भारतीय सेना द्वारा दिया गया था।

Read also – Kalpana Chawla Information In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया indira gandhi information in hindi। अगर आपको यह पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यद्यपि आपका कोई सवाल है तो आप हमसे वह पूछ सकते हैं और यदि आपको सुझाव देना चाहते हैं तो वह भी हमें दे सकते हैं हम आपके सुझाव पर अवश्य ही कार्य करेंगे।

Leave a Comment