Saturday, February 4, 2023

मोर के बारे में जानकारी 2021 | Information Of Peacock In Hindi

दोस्तों आज मैं आपको बताने वाला हूं मोर के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है, about peacock in hindi। वर्तमान समय में मोर के बारे में हर किसी को कुछ ना कुछ पता ही होगा क्योंकि यह हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी है जिस वजह से बहुत सारे लोग इसके बारे में जाने के लिए गूगल पर, information on peacock in hindi ऐसा सर्च करते हैं।

तो चलिए शुरू करते हैं information of peacock in hindi

मोर के बारे में जानकारी | about peacock in hindi | Information Of Peacock In Hindi

मोर के बारे में जानकारी 2021 | Information Of Peacock In Hindi

राष्ट्रीय पक्षी

यह बात हम सभी को विदित है कि हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी मोर है क्योंकि यह सभी पक्षियों से अधिक दिखने में सुंदर और साइज में बड़ा है जिस वजह से हमारे देश का राष्ट्रीय पक्षी मान लिया गया है। मोर के पंख देखने में बहुत ही ज्यादा सुनहरे और सुंदर दिखते हैं यद्यपि कोई व्यक्ति उनके पंखों को देखता है तो देखता ही रह जाता है क्योंकि उसकी सुंदरता कहीं और देखने नहीं देती इसी वजह से हमारे देश के राष्ट्रीय पक्षी को मोर घोषित कर दिया गया। मोर को 26 जनवरी 1963 में हमारा राष्ट्रीय पक्षी घोषित कर दिया गया।

मोर की सुंदरता

अपने पूरे जीवन काल में हर मनुष्य कभी न कभी मोर को अवश्य ही देखा होता है। जिन लोगों ने मोर को देखा होगा उन सबको यह बात पता है कि मोर की सुंदरता कितनी अत्यधिक होती है यदि कहीं पर मोर नाचने लगता है तो उसके आसपास इतने व्यक्ति इकट्ठा हो जाते हैं कि ऐसा लगता है कोई मदारी नाच कर रहा है लेकिन लोगों की ऐसी सोच नहीं होती वह मोर की सुंदरता को देखकर वहां पर इकट्ठे हो जाते हैं।

मोर के पंख लंबे और सुनहरे होते हैं जिस वजह से उसकी सुंदरता और बढ़ जाती है उसके गर्दन पर नीले रंग का बहुत ही सुंदर कलर होता है जो उसकी सुंदरता को और बढ़ा देता है यद्यपि मोर नाचने लगे तो उसकी सुंदरता और भी ज्यादा बढ़ जाती है तब लोगों को मोर को देखना बहुत ज्यादा भा जाता है।

मोर में दो तरह के मोर होते हैं एक नर और दूसरी मादा बहुत सारे लोगों को यह बात नहीं विदित है कि कौन सी नर और कौन सी मादा होती है उन सभी को बस मोर देखना पसंद होता है। जिसके पास बड़े-बड़े पंख होते हैं जो देखने में अत्यंत सुंदर लगते हैं वह नर मोर होता है और जिनके पास वह पंख नहीं होते वह हमारा मोरनी होती है।

मोर की सुंदरता उसके पंख से बनती है क्योंकि जब वह अपने पंख फैलाकर बरसात के मौसम में नाचता है तो लोगों को उसे देखना बहुत ज्यादा पसंद आता है इसलिए कुछ लोग बरसात के मौसम में मोर को देखने के लिए चिड़िया घर जाते हैं लेकिन जो व्यक्ति ग्रामीण क्षेत्रों में रहते हैं उन सभी को मोर देखना बहुत ही आम बात है क्योंकि वहां पर प्रतिदिन मोर दिखाई देता है।

मोर की लंबाई 215 सेंटीमीटर होती है और मोर की ऊंचाई 50 सेंटीमीटर की होती है। यह लंबाई होती है एक नर मोर की। मोरनी की लंबाई 15 सेंटीमीटर की होती है। मोर के पास सुनहरे पंखों का एक बहुत ज्यादा गुच्छा होता है। लोग उसे उसके पंख के लिए ही देखते हैं क्योंकि उसके पंख देखने में बहुत ज्यादा सुहाने लगते है इसलिए लोग उसे अगर एक बार देखना शुरू करे तो देखते ही रह जाते है।

मोर की सुंदरता तब बढ़ जाती है जब बरसात के मौसम में आसमान में घनघोर बादल घिरे होते हैं और बारिश आने की संभावना होती है। क्योंकि इस समय मोर अपने पंख फैला कर नाचना शुरू कर देता है जिस वजह से उसे देखना और भी ज्यादा सुहावना लगता है मोर एक ऐसा पक्षी है जो बरसात के मौसम को बहुत ही ज्यादा पसंद करता है|

क्योंकि जब बरसात का मौसम आता है और जमीन पर हल्की हल्की बारिश शुरू होती है तब मोर अपने सुनहरे पंखों को फैलाकर नाचना शुरू कर देता है और जो व्यक्ति उसे देखता रहता है वह उसके सिवा अन्य किसी चीज को देख ही नहीं पाता क्योंकि वह पूर्णता ध्यान उस मोर के ऊपर लगाया रहता है।

यह मोर अपने पंखों की वजह से लोगों के मनों को अपनी तरफ आकर्षित कर लेते हैं लेकिन यह पंख अगस्त के महीने में एक बार पूरी तरह से झड़ जाते हैं लेकिन जब ग्रीष्म ऋतु आती है तब इनके पंख वापस से निकल आते हैं लेकिन मोरनीयों के साथ ऐसा नहीं होता। मोर का रंग नीला और चमकदार होता है जो उसे सुंदर बनाता है लेकिन मोरनी का रंग भूरे रंग का होता है इसलिए कई लोग मोरनी को देखना पसंद नहीं करते।

वर्तमान समय में मोरों की प्रजाति हमारे धरती से धीरे-धीरे कम होती जा रही है इसलिए मोर अब शहरी क्षेत्रों में नहीं देखे जाते यद्यपि आपको मोड़ देखने की इच्छा है तो या आप जंगल में जाए या फिर अगर आप शहर में है तो आपको चिड़ियाघर के अलावा मोड़ अन्य कहीं पर भी देखने को नहीं मिलेगा लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में मोर बहुत ही आसानी से देखने को मिल जाते हैं क्योंकि वहां पर अब भी पर्याप्त मात्रा में मोर उपलब्ध है क्योंकि गांव का वातावरण मोरों के लिए बहुत ही अनुकूल होता है वहां पर ना किसी तरह का शोर शराबा और ना ही प्रदूषण है।

लेकिन भविष्य में आने वाला समय ऐसा हो सकता है कि हमारे धरती पर मोर की प्रजाति पूरी तरह से नष्ट हो जाए क्योंकि जिस तरह से हम जंगलों को काट रहे हैं एवं प्रदूषण को बढ़ा रहे हैं तो ऐसे में यह हमारे धरती पर मोर के लिए बिल्कुल भी अनुकूल नहीं होता वह शुद्ध हवा में जीवित रहते हैं यद्यपि प्रदूषण बढ़ता जाएगा तो मोरों की प्रजाति 1 दिन पूरी तरह से नष्ट हो जाएगी |

और हमें चिड़िया घरों के अलावा अन्य कहीं पर भी मोर देखने नहीं मिलेंगे यदि आप हमारे इस राष्ट्रीय पक्षी मोर को बचाना चाहते हैं और उसकी सुंदरता को देखना चाहते हैं तो नहीं काटना चाहिए और प्रदूषण जितना हो सके उतना कम करना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों अभी मैंने आपको इस ब्लॉग में बताया about peacock in hindi। यद्यपि आपको यह विषय पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यद्यपि आप चाहते हैं कि हम इसी तरह about peacock in hindi अन्य विषय पर भी आपको जानकारी दे तो आप उसके लिए हमें कमेंट कर सकते हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,696FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles