Saturday, February 4, 2023

चमेली फूल के बारे में जानकारी 2021 | Jasmine Flower Information In Hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में चमेली के फूल के बारे में जानकारी देंगे अर्थात आज का हमारा विषय है jasmine flower information in hindi । यह एक बहुत ही सुगंधित पुष्प जिस की सुगंध सभी को बहुत ज्यादा पसंद है इसलिए गूगल पर इस तरह के सर्च होते हैं जैसे कि jasmine flower in hindi , about jasmine flower in hindi , chameli flower information in hindi।

तो चलिए शुरू करते हैं।

चमेली फूल के बारे में जानकारी | jasmine flower information in hindi | jasmine flower in hindi

चमेली फूल के बारे में जानकारी 2021 | Jasmine Flower Information In Hindi

चमेली के फूल के बारे में हम सभी को बहुत कम पता है कई लोग इस फूल को अभी तक देखे नहीं होंगे लेकिन यह फूल दिखने में भी बहुत सुंदर होते हैं और इस फूल की सुगंध बहुत ज्यादा सुगंधित होती है।

चमेली का पौधा झाड़ी या बेल की प्रजाति का है पूर्व विश्व भर में चमेली की 200 से अधिक प्रजातियां मौजूद है चमेली शब्द यह पारसी शब्द के यासमीन से निकला है जिसका अर्थ उन्होंने बताया है कि प्रभु की देन है।

सबसे पहले चमेली का पौधा भारत देश में पाया जाता था उसके बाद यह यह अरब देश के मूल निवासियों द्वारा अफ्रीका और फ्रांस पहुंचा। भारत देश में चमेली की 40 प्रजातियां और 100 किस्में मौजूद है। भारत में यह फूल मुख्यतः पाया जाता है।

हिमालय देश के दक्षिणावर्ती क्षेत्र चमेली फूल का मूल निवास स्थान है इस पौधे के लिए गर्म और समशीतोष्ण दोनों ही जलवा ए उपयुक्त हैं यह पौधा इन दोनों की जलवायु में जीवित रह सकता है सूखे स्थानों पर चमेली का पौधा जीवित रह सकता है।

चमेली की खेती सिर्फ समतल ही नहीं बल्कि ऊंचाई तक की जाती है अर्थात चमेली की खेती 3000 मीटर ऊंचाई तक की जाती है।

यह फूल यूरोप के उन शहरों में भी उगाए जाते हैं जहां की जलवायु शीतल है अर्थात यह शीतल जलवायू में भी उगाया जाता है। इस पौधे को उगाने के लिए भुरभुरी दोमट मिट्टी बहुत ही सर्वोत्तम और उपयोगी है लेकिन इस पुष्प को काली चिकनी मिट्टी में भी उगाया जा सकता है।

पुष्प बहुत ज्यादा सुगंधित होने की वजह से वर्तमान समय में इसका व्यापार बहुत ही व्यापक रूप से बढ़ रहा है। इस फूल की सुगंध से ही लोग मनमोहित हो जाते हैं इतना ही नहीं यह पुष्प दवा बनाने के लिए कार्य में आती है सर दर्द चक्कर के लिए उपयोगी होती है। अर्थात इस मर्ज की दवा बनाते समय चमेली का पुष्प का भी उपयोग किया जाता है।

चमेली का पुष्प जब कली लेता है तब उस पुष्प का सुगंध बहुत अधिक होता है और जैसे-जैसे हुआ फूल के रूप में परिवर्तित होता जाता है वैसे उसकी सुगंध कम होने लगती है दिन के समय कम सुगंधित होते हैं लेकिन जैसे-जैसे शाम होती है और रात होने का समय होता है उसकी सुगंध बढ़ती जाती है।

जैस्मीनम ओफिसिनेल,ल जैस्मीनम ग्रैंडफ्लोरम चमेली की इस प्रजाति से तेल बनाया जाता है अर्थात हमें बाजार में जो चमेली के तेल मिलते हैं वह इन्हीं प्रजातियों से बने हुए रहते हैं।

यद्यपि आप सोचते हैं है कि आपको चमेली का पौधा लगाना है तो इस पौधे को लगाने का सही समय जुलाई से नवंबर महीने के बीच में होता है। यदि यह पुष्प आप कट करके लगाते हैं तो लगभग 3 वर्ष के अंदर ही उसके पुष्पा आना अर्थात फूल आना शुरू हो जाएंगे।

हमारे भारत देश में चमेली के मुख्य दो प्रजातियों के फूल के रंग सफेद और गुलाबी होते हैं अर्थात सफेद और गुलाबी रंग की चमेली हमारे देश में बहुत अधिक पाई जाती है और कई स्थानों पर इसके प्रजाति के अनुसार चमेली के पुष्प पीले रंग के भी देखे गए हैं।

चमेली फूल के बेले 10 से 15 फुट तक 1 वर्ष में बढ़ती है यदि आप इस का अच्छे से ध्यान रखें तो यह प्रतिवर्ष 1 से 2 फुट और बढ़ जाएगी।

वर्तमान समय में भारत के कई राज्यों में चमेली पुष्प की मांग बहुत ज्यादा है कई स्थानों पर इस पुष्प के गजरे भी बनाए जाते हैं जो औरतें अपने बालों में लगाते हैं।

हार माला बनाने के लिए भी चमेली के पुष्प का इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि इस पुष्प की खुशबू इतनी अत्यधिक होती है कि यह माला जिसको भी पहनाई जाएगी वह मोहित हो जाते हैं।

कई स्थानों पर चमेली के फूल का इस्तेमाल सजावट के लिए भी किया जाता है ताकि यह दिखने में भी सुंदर लगे और इनसे खुशबू आती रहें ताकि आसपास के लोगों को किसी भी तरह की बदबू का सामना ना करना पड़े।

चमेली का फूल जब भी खिलता है तब इसकी गंध आसपास के सभी इलाकों में पहुंच जाती है क्योंकि यह रात के समय बहुत ज्यादा गंध छोड़ते हैं।

इसलिए कई बार इसकी सुगंध को सुनकर सांप एवं अन्य कई जानवर भी इसके पास आ जाते हैं। यह उन पौधों मैं आता है जो सबसे अधिक गंध छोड़ते हैं।

वर्तमान समय में इस फूल की खेती अत्यधिक की जा रही है जो इस फूल की मांग दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। इत्र और तेल बनाने के लिए इस पुष्प का अधिक इस्तेमाल किया जा रहा है क्योंकि इसकी सुगंध बहुत अच्छी होती है जो लोगों को बहुत ज्यादा पसंद आता है इसलिए यह पुष्प का उपयोग बहुत अधिक हो रहा है जिस वजह से कई व्यापारी इस पुष्प की खेती करवा रहे हैं।

भारत में कई लोग इसे अपने घर पर लगाते हैं। ताकि उनके घर में खुशबू फैली रहे। यह फूल जब खिल जाते हैं तब इसकी गंध इतनी अधिक होती है कि यदि यह किसी घर में लगा है तो यह पूरे घर को महका सकता है।

चमेली के फूल का इस्तेमाल चाय बनाने के लिए भी किया जाता है इस फूल से बनी चाय आपके दिमाग में ताजगी पहुंचाती है और आपको तनाव में बहुत राहत प्रदान होती है। इसलिए अब बाजार में चमेली की चाय की भी मांग बढ़ती जा रही है।

Read Also – Information About Rose Flower In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया, jasmine flower information in hindi । मेरी आपको यह विषय पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यदि आप चाहते हैं कि हम इसी विषय की तरह jasmine flower information in hindi अन्य विषय पर भी आपको जानकारी दे तो आप उसके लिए हमें कमेंट कर सकते हैं हम अवश्य ही उस विषय पर आपको जानकारी देंगे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,698FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles