Saturday, February 4, 2023

कुश्ती खेल की जानकारी 2021 | Kushti Game Information In Hindi

दोस्तों आज मैं आपको इस ब्लॉग में बताने वाला हूं कुश्ती गेम के बारे में आज का हमारा विषय है kushti game information in hindi। हमारे भारतवर्ष में कुश्ती का खेल बहुत ज्यादा प्रचलित थी इसलिए वर्तमान समय में रहने वाले सभी मनुष्य के लिए यह जानना बहुत ही आवश्यक है। और साथ ही में आज आपको बताऊंगा wrestling rules in hindi के बारे में। कुश्ती गेम हमारे देश में बहुत ज्यादा प्रचलित था क्योंकि प्राचीन काल में जितने भी मनुष्य थे वह सभी पहलवान हुआ करते थे इसलिए कुश्ती का यह खेल बहुत ज्यादा प्रचलित था भारत देश में।

तो चलिए शुरू करते हैं kushti information in hindi

कुश्ती खेल की जानकारी | kushti game information in hindi | kushti information in hindi

कुश्ती खेल की जानकारी 2021 | Kushti Game Information In Hindi

कुश्ती का खेल हमारे भारतवर्ष में प्राचीन काल से चलता हुआ आ रहा है प्राचीन काल में हमारे देश में कुश्ती का कोई भी स्पर्धा नहीं होती थी जो हमारे देश को मेडल या कोई पुरस्कार दिला सके उस समय गांव के लोग आपस में कुश्ती किया करते थे और एक दूसरे के गांव को पुरस्कृत करते थे। लेकिन वर्तमान समय में अब हमारा कुश्ती ओलंपिक में भी खेला जाने लगा है। कुश्ती के खेल को खेलने के लिए आप का स्वास्थ्य बहुत ही अच्छा होना चाहिए और आपके अंदर फुर्ती और ताकत दोनों होनी चाहिए तभी आप कुश्ती के खेल को खेल सकते हैं अन्यथा आप जब भी इस खेल को खेलेंगे आप हमेशा परास्त ही होंगे।

यह खेल दो पहलवानों के बीच खेला जाता है जिसमें वह एक दूसरे को जमीन पर गिराने की कोशिश करते हैं। इसलिए प्राचीन काल में लोग खुद को अधिक पहलवान साबित करने के लिए कुश्ती का मुकाबला करते थे ताकि वह यह साबित कर सके कि वह भी पहलवान है।

कैसे खेला जाता है ?

इस खेल को खेलने के लिए दोनों पहलवानों के पास 5 मिनट का समय होता है जिसमें वह अपने विपक्षी पहलवान को परास्त कर सके और अगर पहलवान की आयु 16 वर्ष से कम है तो उन पहलवानों को यह खेल खेलने के लिए 4 मिनट का समय दिया जाता है। इस खेल को खेलते समय पहलवान किसी भी तरह का पहनावा नहीं कर सकता वह सिर्फ लंगोट को बांधकर ही इस खेल को खेलते हैं क्योंकि यदि इस खेल को खेलते समय आपके पास या आपके कपड़े में कोई ऐसा और जा रहे जिससे विपक्षी पहलवान को हानि पहुंच सकती है तो इसलिए इस खेल को खेलने के लिए सिर्फ लंगोट का इस्तेमाल होता है।

यह खेल दो तरह से खेला जाता है एक फ्रीस्टाइल और दूसरा ग्रीको रोमन में। लेकिन वर्तमान समय में फ्रीस्टाइल कुश्ती की बहुत अधिक प्रचलित है। जितने भी इंटरनेशनल या नेशनल कुश्ती के मुकाबले होते हैं उन सब मे फ्री स्टाइल कुश्ती खेली जाती है।

इस खेल के नियम

इस खेल का सबसे पहला नियम है कि आप इस खेल को खेलने समय किसी भी तरह का पहनावा नहीं कर सकते।

यदि आपको अंक प्राप्त करने हैं तो आपको विपक्षी पहलवान को चित करना पड़ेगा।

अगर कोई एक पहलवान विपक्षी पहलवान को 5 सेकंड से अधिक जमीन पर दबा कर रखता है तो उसे अंक प्राप्त होते हैं।

अगर कोई पहलवान विपक्षी पहलवान के पेड़ पर चढ़ जाए या उसके पैर को दबा दें तो वह फाउल माना जाता है क्योंकि अन्य खेलो की तरह इस खेल में भी फाउल का नियम होता है।

अगर कोई पहलवान अपने विपक्षी पहलवान के मुंह को जानबूझकर छू देता है तो वह फाउल माना जाता है।

कुश्ती के खेल में यह कोई खिलाड़ी विपक्षी पहलवान का गला दबाता है,बाल खीचता है, या पहलवान के पैर या हाथ की उंगलियों को मरोड़ता है, पहलवान के कपड़े को खींचता है तो वह भी फाउल माना जाता है और अगर कोई पहलवान जानबूज कर कोई ऐसा दाव लगता है जिससे विपक्षी पहलवान की मृत्यु हो सकती है तो वह भी वर्जित है और उसे भी फाउल दिया जाता है।

यद्यपि कोई पहलवान कुश्ती के नियम का उलंघन करता है तो उसे शुरुआत में सिर्फ चेतावनी दी जाती है और अगर वह उस चेतावनी से अपनी गलतियां नही सुधरता तो उसे कॉशन दिया जाता है।

अगर एक गलती को बार बार दोहराता है तो उसे कॉशन दिया जाता है।

रेफरी के निर्णय को ना मान कर रेफरी या जज से बहस करने पर भी कॉशन दिया जाता है

बार बार कुश्ती के नियमों का उलंघन करने पर भी कॉशन दिया जाता है।

अगर किसी पहलवान को 4 बार कॉशन मिल जाए तो इसे परास्त घोषित कर दिया जाता है अर्थात कॉशन मिलने वाले पहलवान के विपक्षी पहलवान को विजयी घोषित कर दिया जाता है चाहे us पहलवान के कितने भी अंक क्यों न हो।

कुश्ती खेल में अर्जुन पुरस्कार विजेता का नाम और सन

  • हवलदार उदयचंद ने 1961 में
  • मालवा ने 1962 में
  • जी. अंदालकर ने 1962 में
  • विशंबर सिंह ने 1964 में
  • भीम सिंह ने 1966 में
  • मुख्तियार सिंह ने 1967 में
  • मास्टर चंदगीराम ने 1969 में
  • सुदेश कुमार ने 1970 में
  • प्रेमनाथ ने 1972 में
  • जगरूप सिंह ने 1973 में
  • सतपाल ने 1974 में
  • राजिंदर सिंह ने 1978 में
  • जगमिंदर सिंह ने 1980 में
  • करतार सिंह ने 1982 में
  • महावीर सिंह ने 1985 में
  • सुभाष ने 1987 में
  • राजेश कुमार ने 1988 में
  • सत्यवान ने 1989 में
  • ओमबीर सिंह ने 1990 में
  • पप्पू यादव ने 1992 में
  • पप्पूकुमार ने 1993 में
  • जगदीश सिंह ने 1997 में
  • संजय कुमार ने 1997 में
  • काका पावर ने 1998 में
  • काकाताश सिंह दहिया ने 1998 में
  • काकाताश जाधव ने 1999 में
  • काकाताश सिंह ने 2000 में
  • कृपाशंकर पटेल ने 2000 में
  • कृपाशंकरस. चीमा ने 2002 में
  • कृपाशंकरसान ने 2002 में
  • कृपाशंकरसानोमर ने 2003 में
  • लअनुज कुमार ने 2004 में
  • लअनुजश कुमार ने 2005 में
  • लअनुजशील कुमार ने 2005 में
  • लअनुजशीला जाखड़ ने 2006 में
  • लअनुजशीलाुमार ने 2006 में
  • अल्का तोमर ने 2008 में
  • योगेश्वर दत्त ने 2009 में
  • राजीव तोमर ने 2010 में
  • रविन्द्र सिंह ने 2011 में
  • नरसिंह यादव ने 2012 में
  • रजिन्द्र कुमार ने 2012 में
  • गीता फोगट ने 2012 में
  • नेहा राठी ने 2013 में
  • धमेन्द्र दलाल ने 2013 में
  • सुनील कुमार राणा ने 2014 में
  • वजरंग पुनिया ने 2015 में
  • बबीता कुमारी ने 2015 में

Read Also – PT Usha Information In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तो अभी मैं आप को बताया kushti game information in hindi। अगर आप का कोई सवाल है तो आप हमे कॉमेंट में पूछ सकते है, और अगर आप चाहते है की हम आप को kushti game information in hindi इस विषय की तरह अन्य विषय पर भी जानकारी दे तो आप हमे उसके लिए कमेंट कर सकते है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,696FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles