मुकेश अंबानी जी के बारे में जानकारी 2021 | Mukesh ambani biography in hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं मुकेश अंबानी जी के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है mukesh ambani biography in hindi । मुकेश अंबानी का नाम हम सभी ने अपने जीवन में एक बार तो अवश्य ही सुना होगा और कई लोग उनके बारे में जानते हैं लेकिन संपूर्ण जानकारी ना होने की वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि biography of mukesh ambani in hindi , mukesh ambani biography

तो चलिए शुरू करते हैं

मुकेश अंबानी जी के बारे में जानकारी | Mukesh ambani biography in hindi | biography of mukesh ambani in hindi

INFOGYANS

मुकेश अंबानी का जन्म 1957 यमन के एडन सिटी में हुआ था उनके पिता का नाम धीरूभाई अंबानी तथा उनकी माता का नाम कोकिला बेन अंबानी था। मुकेश अंबानी अपने माता-पिता के सबसे बड़ी संतान है मुकेश अंबानी के तीन और भाई बहन हैं। इनके भाई अनिल अंबानी एक बहुत ही प्रसिद्ध बिजनेसमैन है तथा इनके अलावा इनकी दो बहने जिनका नाम नीना और दीप्ति है इन दोनों का विवाह हो चुका है।

मुकेश अंबानी की पत्नी का नाम नीता अंबानी है इनके साथ विवाह मुकेश अंबानी ने लगभग 27 वर्ष की आयु में किया था जो वर्तमान समय में इनका व्यापार संभालने में मदद करते हैं मुकेश अंबानी तथा नीता अंबानी को तीन संताने प्राप्त हुई जिनमें से दो लड़के हैं जिनका नाम आकाश अंबानी तथा अनंत अंबानी है तथा उनकी बेटी का नाम ईशा अंबानी है। उनके बड़े बेटे आकाश अंबानी का विवाह श्लोका मेहता नाम की लड़की के साथ तय किया गया है।

मुकेश अंबानी ने अपने विद्यालय की शिक्षा मुंबई शहर के ही हिल ग्रेंज हाई स्कूल से प्राप्त किए तथा इन्होंने अपनी डिग्री की पढ़ाई केमिकल इंजीनियरिंग विषय के साथ महाराष्ट्र के रसायन प्रौद्योगिकी संस्थान से पूरी की है इसके पश्चात मुकेश अंबानी ने अपने आगे की पढ़ाई पूर्ण करने के लिए अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी अपना दाखिला करवाया लेकिन इन्होंने बीच में ही अपनी पढ़ाई को छोड़कर भारत वापस लौट आए और अपने पिता का व्यापार संभालने का निश्चय किया।

मुकेश अंबानी वर्तमान समय में जितने अमीर हैं वह बचपन में इतने अमीर नहीं थे क्योंकि इनका जब जन्म हुआ तब इनका परिवार एक छोटे बेडरूम में रहा करते थे जो जो रूम का था। मुकेश अंबानी 18 वर्ष की आयु में अपने पिता के व्यापार में शामिल हो चुके हैं इनके पिता धीरूभाई अंबानी ने इनको रिलायंस इंडस्ट्रीज का बोर्ड मेंबर बना दिया था और उसके पश्चात जब इनके पिता की मृत्यु हुई तब इन दोनों भाइयों को आधा-आधा हिस्सा प्राप्त हुआ उसके पश्चात दोनों भाई अलग-अलग व्यापार संभालने लगे।

मुकेश अंबानी जब अपने एमबीए की पढ़ाई अमेरिका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कर रहे थे तब इनके पिता को भारत सरकार से पॉलिस्टर फिलामेंट यार्न के विनिर्माण से जुड़े हुए लाइसेंस प्राप्त हो गए जिसके पश्चात धीरूभाई अंबानी में मुकेश अंबानी को अमेरिका से भारत बुलाया ताकि वह भी उनके साथ इस प्लांट को खोलने में मदद कर सके और इन दोनों ने मिलकर बहुत ही सफलतापूर्वक यह प्लांट खोला और इस प्लांट के शुरू होने के बाद मुकेश अंबानी अपनी पढ़ाई पूरी करने अमेरिका वापिस नहीं किया वह भारत में रहकर अपने पिता के साथ उनका व्यापार संभालने का निश्चय किया।

मुकेश अंबानी अपने पिता के व्यापार को संभालते हुए उनके रिलायंस कंपनी को एनर्जी petrochemicals textiles natural resources और telecommunication क्षेत्र में भी कार्य करने लगे और यह धीरे-धीरे सफल होने लगे उनके पिता का निधन सन 2002 में हुआ जिस वजह से रिलायंस इंडस्ट्रीज दो हिस्सों में बट गई।

और यह दोनों ने अपना अपना व्यापार संभालते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज का अलग-अलग नाम रखा अनिल अंबानी ने इसका नाम रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी रखा मुकेश अंबानी ने इसका नाम रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड रखा।

मुकेश अंबानी सन 2005 में अपनी कंपनी के चेयरमैन और एमडी बने थे जिसके बाद उन्होंने कई सारी उपलब्धियां प्राप्त की उन्होंने गुजरात में पेट्रोलियम रिफाइनरी को स्टार्ट किया जो वर्तमान समय में विश्व की सबसे बड़ी रिफाइनरी है सन 2010 के एक रिपोर्ट के जरिए यह बात सामने आई कि यह रिफाइनरी हमसे 668000 बैरल पेट्रोलियम प्रतिदिन निकाला जाता है।

मुकेश अंबानी ने सन 2006 में रिलायंस फ्रेश स्टोर की शुरुआत की वर्तमान समय में इस स्टोर की 700 से अधिक सिंह चलाएं पूरे भारत देश में खुली हैं इस स्टोर में घरेलू उत्पाद दोनों को बेचा जाता है।

मुकेश अंबानी ने सन 2016 में टेलीकम्युनिकेशन के क्षेत्र में व्यापार शुरू किया उन्होंने जिओ के नाम से इस व्यापार को शुरू किया था और यह कंपनी बहुत ही कम समय मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर से जुड़ी कंपनियों तो पीछे कर दिया और बहुत ही कम समय में इस बाजार में अपनी अच्छी पकड़ बना ली। और अब यह कंपनी जिओ गीगा फाइबर नाम की ब्रॉडबैंड सर्विस की शुरूआत की है जिस वजह से भारत की जनता को और भी अच्छे नेटवर्क कनेक्शन प्राप्त होंगे।

मुकेश अंबानी को कई सारे अवार्ड तथा उपलब्धियां प्राप्त है :
वर्ल्ड कम्युनिकेशन अवार्ड फॉर द मोस्ट इंफ्लुएंटीएल पर्सन इन टेलीकम्युनिकेशन्स इस अवार्ड को टोटल टेलीकॉम द्वारा इनको दिया गया था सन 2004 में।

यूनाइटेड स्टेट्स-इंडिया बिजनेस काउंसिल लीडरशिप अवार्ड’ इस अवार्ड को यूनाइटेड स्टेट इंडिया बिजनेस काउंसलिंग द्वारा मुकेश अंबानी को दिया गया था सन 2007 में।

चित्रलेखा पर्सन ऑफ़ द ईयर अवार्ड इस अवार्ड को गुजरात सरकार द्वारा दिया गया था, साल २००७ में । बिजनेस लीडर ऑफ द ईयर का अवार्ड इनको एनडीटीवी इंडिया की तरफ से साल 2010 में दिया गया था।

बिजनेसमैन ऑफ द ईयर का अवार्ड इन को वित्तीय क्रॉनिकल की तरफ से साल 2010 में ही दिया गया था। स्कूल ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड अप्लाइड साइंस डीन मेडल यह अवार्ड इनको यूनिवर्सिटी ऑफ पेनसिल्वेनिया की तरफ से , साल 2010 में दिया गया।

ग्लोबल लीडरशिप अवॉर्ड इनको अंतर्राष्ट्रीय व्यापार परिषद, की तरफ से साल 2010 में मिला।
मानद डॉक्टरेट (विज्ञान के डॉक्टर) इनको महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय, बड़ौदा की तरफ से साल 2010 में।
एशिया सोसाइटी लीडरशिप अवॉर्ड इनको एशिया सोसाइटी, वाशिंगटन डी.सी की तरफ से., यूएसए
दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों की फोर्ब्स सूची में 36 वां स्थान पर साल 2014 में।

Read Also – Harivansh rai bachchan biography in hindi

निष्कर्ष

दोस्तों भी हमने आपको एक ब्लॉग में लिखकर बताया mukesh ambani biography in hindi । अगर आपको उनके बारे में जानकर अच्छा लगा हो तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं और यदि आपको कोई सवाल है तो आप उसके बारे में भी हम से पूछ सकते है।

Leave a Comment