शाहरुख खान के बारे में जानकारी 2021 | Shahrukh khan biography in hindi

मित्रों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाला हूं शाहरुख खान के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है shahrukh khan biography in hindi। शाहरुख खान के बारे में जानते हम सभी है लेकिन उनकी संपूर्ण जानकारी तथा उनके जीवन के बारे में हमें अधिक जानकारी ना होने की वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि biography of shahrukh khan in hindi , shahrukh khan biography in hindi language

तो चलिए शुरू करते हैं

शाहरुख खान के बारे में जानकारी | Shahrukh khan biography in hindi | biography of shahrukh khan in hindi

INFOGYANS

शाहरुख खान का जन्म 2 नवंबर 1965 में हुआ था। इनके पिता का नाम ताज मोहम्मद खान तथा इनकी माता का नाम latifa Fatima था। जो मेजर जनरल शाहनवाज खान की पत्नी। शाहरुख खान एक भारतीय अभिनेता है इनको बॉलीवुड का बादशाह किंग खान रोमांस किंग और किंग ऑफ बॉलीवुड के नाम से जानते हैं।

शाहरुख खान अपने करियर की शुरुआत सन 1980 में कई टेलीविजन धारावाहिकों तथा 1992 से व्यापारिक दृष्टि से दीवाना फिल्म से फिल्म के क्षेत्र में अपने कदम को रखा। इनको पहली फिल्म में ही इनको फिल्म फेयर प्रथम अभिनय पुरस्कार दिया गया। शाहरुख खान ने उसके बाद अन्य कई फिल्में करी जिसमें उन्होंने अपना नकारात्मक भूमिका निभाया जैसे दर्शन 1993 में बाजीगर सन 1993 में तथा अंजाम सन 1994 में किया।

फिल्म और अभिनय

शाहरुख खान ने जब अपना जीवन अभिनय के क्षेत्र में कदम रखा तब उन्होंने सन 1988 में एक धारावाहिक जिसका नाम फौजी था उसी से आरंभ किया उस धारावाहिक में उन्होंने कमांडो अभिमन्यु राय का किरदार निभाया। शाहरुख खान ने उसके पश्चात कई अन्य धारावाहिकों में कार्य किया लेकिन उनकी सन 1989 की एक प्रसिद्ध धारावाहिक जिसका नाम सर्कस था यह बहुत ज्यादा लोगों द्वारा पसंद की गई इस धारावाहिक के निर्देशक थे अजीज मिर्जा।

उसके पश्चात उन्होंने एक अंग्रेजी फिल्में विद्यार्थी का किरदार निभाया इसमें इन का किरदार बहुत छोटा था उस फिल्म का नाम इन विच गिव्स इट दोज़ वंस। सन 1991 में शाहरुख खान दिल्ली से मुंबई आ गए और उन्होंने अपना प्रथम अभिनय दीवाना फिल्म में किया यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बहुत ज्यादा प्रचलित रही और लोगों द्वारा बहुत सराही गई इस फिल्म के लिए उनको फिल्म फेयर प्रथम अभिनय का पुरस्कार भी दिया गया।

इसके पश्चात उन्होंने दिल आशना फिल्म में अभिनय किया लेकिन यह फिल्म नहीं चली उसके पश्चात उन्होंने सन् 1993 में बाजीगर फिल्म में एक हत्यारे का अभिनय किया इसलिए उनको फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया उसी वर्ष सन् 1993 में ही शाहरुख खान डर फिल्म में अभिनय किया इस फिल्म में उनका किरदार था एक इश्क में पागल आशिक का और इसके लिए शाहरुख खान के इस अभिनय को दर्शकों द्वारा बहुत सराहा गया।

उसके पश्चात शाहरुख खान ने कभी हां कभी ना फिल्म में कार्य किया और इस फिल्म के लिए भी उनको फिल्म फेयर समीक्षक सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया। शाहरुख खान ने अंजाम फिल्म में सन 1994 में अभिनय किया इस फिल्म में भी उन्होंने आशिक तथा मनोरोगी का किरदार निभाया और इस फिल्म के लिए शाहरुख खान को फिल्म फेयर की तरफ से सर्वश्रेष्ठ खलनायक का पुरस्कार दिया गया।

सन 1995 में शाहरुख खान ने दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे फिल्म में मुख्य भूमिका निभाई और यह फिल्म बॉलीवुड के फिल्म के इतिहास में सबसे बड़ी और सफल फिल्मों में से एक मानी जाती है यह फिल्म दर्शकों द्वारा इनके कार्य को भी बहुत सराहा गया मुंबई के सिनेमाघरों में दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे 12 सालों से चल रही है। और एक बार पुनः उनको फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया।

शाहरुख खान द्वारा सन 1996 में की गई सभी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर असफल रही। इसलिए ऐसा भी कहा जा सकता है कि यह वर्ष इनके लिए पूरी तरह निराशाजनक रहा लेकिन उसके अगले साल सन 1997 में उन्होंने तीन फिल्मों में कार्य किया जिनका नाम था दिल तो पागल है परदेस तथा यस बॉस। यह तीनों फिल्में इनकी बहुत ज्यादा प्रचलित हुई और तभी से उन्होंने फिल्म के क्षेत्र में अपना कदम जमाना शुरू कर दिया।

सन 1998 की शाहरुख खान की फिल्म कुछ कुछ होता है मैं कार्य किया यह फिल्म करण जौहर द्वारा निर्देशित की जा रही थी इस फिल्म के लिए भी शाहरुख खान को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार दिया गया और इसी वर्ष इन्होंने दिल से फिल्म अभिनय किया यह फिल्म भी भारत के बाहर भी चली तथा भारत में भी इस फिल्म की बहुत अधिक सराहना की गई या फिल्म मणि रत्नम द्वारा निर्देशित की गई थी।

सन 2000 के पहले शाहरुख खान की फिल्म कुछ अधिक लाभकारी नहीं रही वह फिल्म सिर्फ व्यापार ही कर पाई लेकिन सन 2000 में आदित्य चोपड़ा द्वारा निर्देशित की गई मोहब्बतें फिल्म में शाहरुख खान के अभिनेता था इस फिल्म को बहुत सराहा गया यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बहुत अधिक प्रचलित रही और इस फिल्म की वजह से इनको फिल्म फेयर समीक्षक सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार भी दिया गया।

शाहरुख और अन्य फिल्मों में कार्य किया जिनका नाम इस तरह है : पहेली अलग कभी अलविदा ना कहना डॉन आईसीयू चक दे इंडिया 1 2 ka 4 अशोका कभी खुशी कभी गम हम तुम्हारे हैं सनम देवदास शक्ति द पावर साथिया चलते चलते कल हो ना हो मैं हूं ना वीर जारा स्वदेश कुछ मीठा हो जाए कॉल सिलसिले। और भी कई सारी फिल्मों में कार्य किया।

पुरस्कार

1998 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – दिल तो पागल है के लिए।
1996 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे के लिए।
1994 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – बाज़ीगर के लिए।
2011 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – माई नेम इज़ ख़ान के लिए।
2007 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – चक दे! इंडिया के लिए।
2005 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – स्वदेश के लिए।
2003 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – देवदास के लिए।
1999 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – कुछ कुछ होता है के लिए।
इतने सारे पुरस्कार इन को दिए गए तथा शाहरुख खान अब सबसे अधिक कमाने वाले अभिनेता बन चुके हैं इसके अलावा कई सारे ब्रांड के ब्रांड एंबेसडर भी हैं और शाहरुख खान को दुबई का गोल्डन वीजा मिला है।

Read Also – Dhirubhai ambani biography in hindi

निष्कर्ष

दोस्तों भी हमने आपको इस ब्लॉग में लिखकर बताया shahrukh khan biography in hindi। अगर आप को इनके बारे में कुछ जानना है तो अब उसके लिए भी हमें कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment