सोनू सूद के बारे में जानकारी 2021 | Sonu sood biography in hindi

दोस्तों आज हम मैं आपको इस ब्लॉग में सोनू सूद के बारे में बताने वाले हैं अर्थात आज का हमारा विषय है sonu sood biography in hindi। सोनू सूद का नाम हम सभी ने सुना है तथा उनके जीवन कार्यों के बारे में हमें संपूर्ण जानकारी नहीं है जिस वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते रहते हैं जैसे कि biography of sonu sood in hindi , sonu sood ka jivan parichay इसलिए मैं आज आप को उनके बारे में संपूर्ण जानकारी दूंगा।

तो चलिए शुरू करते हैं।

सोनू सूद के बारे में जानकारी | Sonu sood biography in hindi | biography of sonu sood in hindi

Sonu sood biography in hindi

सोनू सूद का जन्म 30 जुलाई 1973 में हमारे भारत राष्ट्र के पंजाब राज्य में मोगा नाम के गांव में हुआ था इनके पिता का नाम शक्ति सूद था तथा उनकी माता का नाम सरोज सूद था। सोनू सूद की दो बहने हैं जिनका नाम मालविका सूद तथा मोनिका सूद है।

सोनू सूद की माता अपने ही इलाके के एक विद्यालय में अध्यापिका अच्छी तथा उनके पिताजी मुंबई क्लॉथ नाम से एक दुकान चलाया करते थे और इस कार्य में सोनू सूद अपने पिता का बहुत मदद किया करते थे।

सोनू सूद की प्रारंभिक शिक्षा उनके निवास स्थान मोगा के सेक्रेड हाई स्कूल में हुआ था तत्पश्चात वह अपने आगे की शिक्षा प्राप्त करने के लिए नागपुर चले गए और वहां पर उन्होंने यशवंतराव चौहान महाविद्यालय से अपने इंजीनियरिंग की डिग्री प्राप्त की उसी इंजीनियरिंग के दौरान उनकी मुलाकात सोनाली जी से हुआ जिससे उन्होंने 25 सितंबर 1996 में विवाह कर लिया तथा अब इन दंपति को 2 पुत्र की प्राप्ति हुई। जिनका नाम उन्होंने अशांत एवं अयान रखा है।

Sonu Sood को मॉडलिंग का शौक था जिस वजह से उन्होंने अपनी इंजीनियरिंग की डिग्री के साथ-साथ मॉडलिंग करने का भी विचार किया जिस वजह से उन्होंने मॉडलिंग करना शुरू किए।
यह मॉडलिंग करते हुए फिल्म इंडस्ट्री में भी आने का विचार किया जिस वजह से वह इंडस्ट्री में अपना कदम रखें और वह अपनी काबिलियत के दम पर बहुत ही कम समय में लोगों के दिलों पर छा गए इनकी पहली डेब्यु फिल्म सन 1999 में निकली थी जिसका नाम कॉलजघर था यह एक तमिल भाषा की फिल्म है।

सोनू सूद अपनी पहली फिल्म हिंदी भाषा की जब करी तब से वह अपने जीवन में कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा उस फिल्म का नाम था शहीद ए आजम। इस फिल्म में उन्होंने जब अभिनय किया तब लोगों को उनके द्वारा किए गए अभिनय अत्यधिक पसंद आया जिस वजह से वह लोगों में बहुत प्रसिद्ध हो गए और इस फिल्म के बाद से उनको तमिल भाषा की फिल्मों में भी कार्य करने के लिए प्रस्ताव आने लगे।

जब से हमारे भारत देश में लॉकडाउन लगा तब से सोनू सूद आम जनता में और भी अत्यधिक प्रयोग हो गए क्योंकि उन्होंने इस लॉकडाउन में जनता की बहुत मदद की है जिस वजह से वह लोगों के दिलों में राज करने लगे। इस महामारी की वजह से जो मजदूर एवं व्यक्ति अपने घर वापस जाने में सक्षम नहीं थे सोनू सूद तथा उनके टीम ने मिलकर उन लोगों को उनके घर पर वापस थोड़ा तथा उनके खाने-पीने का भी ख्याल रखा गया जो व्यक्ति सोनू सूद के हेल्पलाइन नंबर पर मदद मांगता था वह अवश्य मदद पाता था जिस वजह से लोगों के दिलों में सोनू सूद की भी इज्जत और अत्यधिक बढ़ गए।

इतना ही नहीं इस महामारी के दौरान सोनू सूद जरूरतमंद लोगों के लिए ऑक्सीजन बेड और वेंटीलेटर जैसी व्यवस्थाएं कराते थे ताकि लोगों को और भी आसानी हो जाए तथा उनकी मदद हो उनकी इस मदद की वजह से वह एक किंग बन गए थे।
इसके पश्चात सोनू सूद ने अपने 47 वें जन्मदिन पर उन मजदूरों एवं लोगों के लिए एक वेबसाइट तथा एप्लीकेशन बनवाया जिनकी को रोना के लॉकडाउन में नौकरी चली गई थी उस एप्लीकेशन का नाम इन्होंने गुड वर्ककर रखा था इसका काम उन लोगों को नौकरी दिलाना था जो अपनी नौकरी खो चुके हैं ताकि वह अपना जीवन गुजर बसर कर सकें।

सोनू सूद की फिल्म

सन 1999 में कालज घर तथा नेनजिनिले
सन 2000 में हैंड्स अप
सन 2001 में मजनू ल
सन 2002 में शहीद-ए-आजम तथा जिंदगी खूबसूरत है तथा राजा
सन 2003 में इन्होंने अमैलु अब्दुल, कोविलपट्टी वीरालक्ष्मी तथा कहां हो तुम फिल्मों में अभिनय किया।
सन 2004 में मिशन मुंबई तथा युवा
सन 2005 में उन्होंने कई फिल्में की जिसका नाम चंद्रमुखी सुपर अथाडु आशिक बनाया आपने सिसकियां तथा डाइवोर्स
सन 2006 अशोक तथा राकइन मीरा
सन 2008 में इन्होंने जोधा अकबर मिस्टर मेधावी तथा सिंह इज किंग एवं एक विवाह ऐसा भी किया
सन 2009 में इन्होंने अरुंधति ढूंढते रह जाओगे अंजनैयुलू बंगारू बाबू एक निरंजन तथा सिटी ऑफलाइफ
सन 2010 में दबंग
सन 2011 में उन्होंने कई फिल्में की जिसका नाम तीनमार बुड्ढा होगा तेरा बाप कंदिरीगा डूकुडू वीर विष्णुवर्धन तथा ओस्ते
सन 2012 में ऊ कोदथारा? उलिक्की पडथारा? तथा जुलाई बिट्टू
सन 2013 में शूटआउट अट वडाला माथा गजा राजा तथा रमैया वस्तावैया राणा कुछ दिन कुछ पल भाई ब्रह्मा

इन सभी फिल्मों के लिए सोनू सूद को कई सारे अवार्ड भी दिए गए हैं
सन 2009 में सोनू सूद को बॉलीवुड की फिल्म दबंग के लिए बेस्ट परफॉर्मेंस के लिए आइफा अवॉर्ड और अप्सरा अवार्ड मिला।इसी वर्ष इनको इनकी तमिल की मूवी अरुंधति के लिए बेस्ट विलेन का किरदार निभाने के लिए नंदी अवार्ड दिया गया और सन 2012 में इनको सीमा अवार्ड मिला।

सोनू सूद फिल्मों में भले विलेन का रोल करते हैं लेकिन असल जिंदगी में वह एक हीरो स्वरूप सभी जनता की आंखों में बस चुके हैं क्योंकि उन्होंने लॉकडाउन में जितने भी कार्य किए हैं वह उनको हमारे भारत देश का राजा बना लिया है। उन्होंने लाखों गरीबों की मदद लॉकडाउन में कि जिस वजह से लोगों के दिलों में इनकी एक बहुत अच्छी छवि बन चुकी है।

Read Also – Mamta banerjee biography in hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में sonu sood biography in hindi के विषय में जानकारी दें अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें यदि आपका कोई सवाल सोनू सूद के लिए है तो आप हमसे कमेंट में पूछ सकते हैं हम आपके सवाल का जवाब अवश्य देंगे।

Leave a Comment