तिरुपति बालाजी मंदिर की जानकारी 2021 | Tirupati Balaji Mandir Information In Hindi

दोस्तों आज मैं आपको इस ब्लॉग में बताने वाला हूं तिरुपति बालाजी मंदिर के बारे में जो हमारे भारत देश में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है अर्थात आज का हमारा विषय है tirupati balaji mandir information in hindi। तिरुपति बालाजी के बारे में जानना बहुत लोग जाते हैं जिस वजह से गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के सर्च होते हैं जैसे कि tirupati balaji in hindi , tirupati balaji mandir history in hindi , tirupati temple history in hindi इसलिए आज मैं अपने रीडर्स को इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दूंगा तो चलिए शुरू कर लेते हैं आज का हमारा विषय

तिरुपति बालाजी मंदिर की जानकारी | tirupati balaji mandir information in hindi | tirupati balaji in hindi

तिरुपति बालाजी मंदिर की जानकारी 2021 | Tirupati Balaji Mandir Information In Hindi

तिरुपति बालाजी हमारे भारत देश में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है पूरे भारत देश में राज्य के कोने-कोने से लोग इस मंदिर में आती है क्योंकि यहां पर मांगी गई सभी मुरादें पूरी हो जाती है जिस वजह से यह हमारे भारत देश में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है।

तिरुपति बालाजी हमारे भारत देश के आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में बना है यह मंदिर यहां पर प्रतिदिन लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं और यह बहुत ज्यादा प्रसिद्ध होता जा रहा है।

प्राचीन काल में बना यह मंदिर हमारे दक्षिणी भारत की वास्तुकला और शिल्प कला की एक अद्भुत निशानी है। प्राचीन काल में बनाया मंदिर सिर्फ कलाओं के लिए भी बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है क्योंकि इसका नजारा बहुत अद्भुत लगता है इस मंदिर पर प्राचीन काल के इस तरह की कलाएं की गई है जिसे देखकर लोगों के मन प्रफुल्लित हो जाते हैं।

तिरुपति बालाजी जाने के लिए आप हवाई मार्ग रेल मार्ग और थल मार्ग तीनों का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि यहां तक पहुंचने के लिए तीनों रास्ते बहुत ही उपयोगी हैं यदि आप हवाई मार्ग से आना चाहते हैं तो हैदराबाद के हवाई अड्डे पर उतर सकते हैं और रेल मार्ग आप इसी तरह से आ सकते हैं और यदि आप थल मार्ग रोड के जरिए यहां तक पहुंचना चाहते हैं तब भी आप बहुत ही आसानी से आ सकते हैं

यहां पर आने वाले सभी श्रद्धालु भगवान वेंकटेश्वर का दर्शन अवश्य ही करते हैं क्योंकि इनके दर्शन के यहां पर आना सफल नहीं होता इनके दर्शन के लिए काफी लंबी लाइन लगी रहती है कतारों में लगे श्रद्धालुओं की वजह से यह मंदिर बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हो रहा है।

हिंदू धर्म के लोग तिरुपति बालाजी की इच्छा हमेशा रखते हैं क्योंकि यहां पर उनकी सभी मन्नते पूरी होती है और भगवान तिरुपति बालाजी में बहुत ही अधिक शक्ति है जिस वजह से उनके श्रद्धालुओं की मनोकामनाएं पूर्ण होती है इस वजह से वहां पर लाखों की संख्या में प्रतिदिन बिगड़े लगती है।

हिंदू धर्म के लोग अपना बहुत सारा कार्य तिरुपति बालाजी में आकर शुरू करते हैं कई लोग कई तरह की मन्नतें मांगते हैं कि यदि हमारा यह कार्य पूर्ण होगा तो हम तिरुपति बालाजी में इस तरह का कार्य कराएंगे।

तिरुपति बालाजी आंध्र प्रदेश के दक्षिणी भाग में स्थित है और इसकी ऊंचाई समुद्र तल से 3200 फीट है। बालाजी की बाल रूप में उनको थोड़ी से रक्त आया था और यह स्थान बालाजी के मुख्य द्वार के दाएं तरफ है और वहां से चंदन लगाने की प्रथा शुरू हुई है।

तिरुपति बालाजी मंदिर से 23 किलोमीटर दूर एक गांव है उसी गांव से आने वाले दूध की माखन एवं फूल को चढ़ाया जाता है इस गांव में बाहरी व्यक्ति का आना पूरी तरह से निषेध है क्योंकि यहां के लोग बहुत ही साफ सफाई और पवित्रता से रहते हैं जिस वजह से यहां कि सभी समाज के लिए तिरुपति बालाजी पर चढ़ाई जाती हैं और अन्य कहीं की भी वस्तुओं का इस्तेमाल नहीं किया जाता।

तिरुपति बालाजी की प्रतिमा को प्रतिदिन नीचे धोती और ऊपर साड़ी की मदद से सजाया जाता है जो देखने में बहुत ही ज्यादा सुहाना लगता है।

एक बात हम और बता दे कि बालाजी के पेट को जितनी बार भी साफ किया जाता है वहां पर गीलापन हमेशा बना रहता है और यदि आप वहां पर कान लगाकर सुनेंगे तो आपको समुंद्र घोष सुनाई देता है।

बालाजी में जितनी भी वस्तुएं विसर्जित की जाती है अर्थात वहां के जलकुंड में जितनी भी वस्तुओं का विसर्जन किया जाता है वह तिरुपति बालाजी से 20 किलोमीटर दूर वेरपेडु में बाहर निकलती है।

तिरुपति बालाजी के गर्भ गृह में जलने वाले दिए कभी भी नहीं बुजते वाह प्राचीन काल से ही जलते हुए चले आ रहे हैं और वह कितने सालों से लगातार जल रहे हैं इस बात के बारे में भी किसी को अभी तक नहीं पता चला है वह हमेशा चलते ही रहते हैं।

तिरुपति में श्रद्धालुओं के लिए बहुत सारे ऐसे स्थल हैं जहां पर उनकी मनोकामनाएं और इच्छाएं पूर्ण होती हैं उसी में एक है श्री पद्मावती समोवर मंदिर। ऐसा कहा जाता है कि तिरुपति में आने वाले सभी श्रद्धालुओं को इस मंदिर में दर्शन करना आवश्यक है क्योंकि तिरुमला आने वाले सभी श्रद्धालुओं की यात्रा तभी पूर्ण होती है जब वह इस मंदिर के दर्शन करते हैं।

श्री गोविंदराजस्वामी मंदिर यह मंदिर तिरुपति बालाजी में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है क्योंकि यह बालाजी के बड़े भाई हैं इसलिए जितने भी श्रद्धालु तिरुपति बालाजी के दर्शन करने आते हैं वह सभी इस मंदिर के दर्शन अवश्य ही करते हैं।

श्री कोदादंरमस्वामी मंदिर यह मंदिर तिरुपति के मध्य में स्थित है और यहां पर सीता राम और लक्ष्मण की पूजा की जाती है यह मंदिर भी तिरुपति में बहुत ज्यादा प्रसिद्ध है श्रद्धालुओं की भीड़ यहां पर भी प्रतिदिन बढ़ती रहती है।

श्री कपिलेश्वरस्वामी मंदिर यह मंदिर बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है इस मंदिर में भगवान शिव की पूजा की जाती है अर्थात यह शिव मंदिर के नाम से भी जाना जाता है यह चित्तूर जिले में स्थित है।

तिरुपति बालाजी का आशीर्वाद सभी भक्तों पर रहता है जो भी वहां पर जाते हैं उनके भक्त कभी भी किसी भी तरह की समस्या से बाहर आ सकते हैं क्योंकि तिरुपति बालाजी की असीम अनुकंपा करती है।

Read Also – Goa Beaches Information In Hindi

निष्कर्ष

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में बताया tirupati balaji mandir information in hindi। अगर आपको यह पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यदि आप चाहते हैं कि हम इसी तरह के tirupati balaji mandir information in hindi अन्य विषय पर जानकारी चाहते हैं तो उसके लिए भी आप हमें कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment