तुलसी पेड़ की जानकारी 2021 | Tulsi Tree Information In Hindi

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में बताने वाले हैं तुलसी पेड़ के बारे में अर्थात आज का हमारा विषय है Tulsi tree information in hindi। तुलसी के फिर को हम सभी ने देखा है लेकिन उसके फायदे और उसके उपयोग के बारे में हम लोग नहीं जानते इसलिए मैं सोचा कि आपको इसके बारे में जानकारी दें क्योंकि गूगल पर प्रतिदिन इस तरह के बहुत सारे सर्च होते हैं जैसे कि tulsi ke fayde , tulsi in hindi , tulsi ke fayde in hindi । आज आपको एक ही ब्लॉग में सभी जानकारी मिल जाएगी तो चलिए शुरू करते हैं।

 

तुलसी पेड़ की जानकारी | tulsi tree information in hindi | tulsi in hindi

तुलसी पेड़ की जानकारी 2021 | Tulsi Tree Information In Hindi

तुलसी का वृक्ष हमारे भारत देश में बहुत ही पवित्र माना गया है लोग इस वृक्ष को अपने घरों पर लगाते हैं यह वृक्ष बहुत बड़ा नहीं होता यह एक छोटा सा पौधा है तो हम इसे तुलसी का वृक्ष में तुलसी का पौधा बोलते हैं।

तुलसी का वृक्ष हम सभी के जीवन में बहुत ज्यादा उपयोगी है कुछ लोग इसे प्रतिदिन पूजा करते हैं और इसका उपयोग आप काढ़े है या अन्य किसी कार्य में कर सकते हैं।

तुलसी के पौधों को इतना पवित्र माना गया है कि जब भगवान सत्यनारायण जी की पूजा होती है तो उस में बनने वाला चरणामृत में तुलसी के पौधे के पत्ते डाले जाते हैं ताकि वह चरणामृत भी अमृत के समान हो जाए।

तुलसी का पौधा हमारे हिंदू धर्म में बहुत पवित्र माना गया है और इसका वर्णन ग्रंथों में भी है तुलसी के पौधे के पत्तियों का इस्तेमाल होम्योपैथी एंड यूनानी दवाइयों में भी किया जाता है। तुलसी का पौधा हम सभी प्राणियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

तुलसी के पौधे की ऊंचाई 1 फीट से 3 फीट तक हो सकती है और इसके पत्तियां लगभग 1 इंच से 2 इंच लंबी होती है और यह अंडे आकार में होती है तुलसी की पत्तियों के ऊपर एक छोटे छोटे रोए होते हैं जो हमें बहुत ही ध्यान से देखने के पश्चात ही नजर आते हैं।

तुलसी के पौधे में 6 से 7 तरह की प्रजातियां पाई जाती हैं और इनमें से सबसे पवित्र और सबसे प्रधान प्रजाति ऑसीमम सैक्टम इस प्रजाति को कहा और माना जाता है।

जिन लोगों को तुलसी के प्रजातियों के बारे में अधिक जानकारी नहीं है उनके लिए तुलसी का हर एक प्रजाति बहुत ही पवित्र और प्रधान है क्योंकि हमारे हिंदू धर्म में तुलसी का पौधा पवित्र माना ही जाता है।

तुलसी के प्रजाति में एक काली तुलसी भी बोली जाती है जो गुण और धर्म में सबसे श्रेष्ठ है अर्थात इस पौधे की पत्तियों में अन्य सभी प्रजातियों से अधिक गुण और धर्म होते हैं।

तुलसी के पौधे में बहुत तरह की जैव सक्रिय रसायन पाया जाता है इसमें कई तरह के पाए जाते हैं लेकिन , सैवोनिन, ग्लाइकोसाइड और एल्केलाइड्स यह रसायन सबसे अधिक और सबसे प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

*तुलसी के पौधे के फायदे

हमने अभी इसके पवित्रता के बारे में जाना है अब हम आपको इस पौधे के फायदे के बारे में भी बताएंगे जिसे जानकर आप चौका जाएंगे।

तुलसी के पौधे की पत्तियां दिमाग के लिए बहुत ही फायदेमंद मानी गई हैं यदि आप प्रतिदिन तुलसी के पत्तों का सेवन करते हैं तो इससे आपके दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ती है और आपकी स्मरण शक्ति भी बढ़ने लगती है।

 

सर दर्द में भी तुलसी की पत्तियों का बहुत ही उपयोग है यदि आपका सर दर्द करता है किसी भी समस्या की वजह से चाहे वह अधिक कार्य करने की वजह से हो या अधिक तनाव लेने की वजह से आप तुलसी के पौधे का तेल अपने नाक में एक दो बूंद डाल ले तो इससे आपके नाक के जरिए सर दर्द में बहुत राहत मिलेगी और सर से जुड़ी अन्य समस्याओं में भी आप को राहत प्रदान होगी।

 

तुलसी का तेल जूं के लिए भी बहुत ही फायदेमंद है यदि आपके सर में जूं पड़े हैं और वह ठीक नहीं हो रहे अर्थात वह निकल नहीं रहे हैं तब आपको तुलसी के तेल का इस्तेमाल करना चाहिए तुलसी के तेल का इस्तेमाल करने से आपके सर से सभी जूं जल्द से जल्द नष्ट हो जाएंगे।

 

यदि किसी भी व्यक्ति को रतौंधी की बीमारी है उसके लिए तुलसी की पत्तियां बहुत ही फायदेमंद है रतौंधी समस्या से पीड़ित व्यक्ति को तुलसी के पत्तों का सेवन करना चाहिए इससे उसके आंख की रोशनी रतौंधी यह समस्या धीरे-धीरे कम होने लगती है।

 

तुलसी का पौधा कान दर्द और कान के सूजन के लिए भी बहुत ही अधिक फायदेमंद है यदि आपके कान में दर्द और सूजन है तो आप तुलसी-पत्र-स्वरस गर्म करके दो-दो बूंद कानों में डालें इससे आपके कान दर्द में भी राहत मिलेगी और कान के पीछे हुई सूजन भी धीरे-धीरे कम होने लगेगी और उसके भी दर्द से आपको बहुत राहत प्रदान होगी।

 

तुलसी के पौधे का उपयोग दांत के दर्द के लिए भी किया जाता है यह दांत के दर्द के लिए भी बहुत फायदेमंद है दांत में दर्द होने पर आपको काली मिर्च और तुलसी की पत्तियों का गोला बनाकर अपने दांत के नीचे दबाकर रखना है इससे आपके दांत में बहुत राहत प्राप्त होगी।

 

तुलसी के पौधे गले के जुड़ी समस्याओं के लिए बहुत लाभकारी होते हैं यह गले से जुड़ी सभी समस्याओं में आपको बहुत राहत प्रदान करते हैं यदि आपके गले में किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न होती है तब आप तुलसी के पत्तों का सेवन करें। तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल खांसी में भी किया जाता है यदि आपको खांसी आती है तो आप तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल करे जाओ उनसे आप काढ़ा तैयार करके पिए इसी से आपकी खांसी बहुत जल्द से जल्द आराम हो जाएगी अदरक और तुलसी का भी सेवन किया जाता है।

 

अगर आपको सूखी खांसी और दमे की समस्या है तो आप उसके लिए तुलसी के पौधे का इस्तेमाल कर सकते हैं आप तुलसी की मंजरी सूट और प्याज का रस और उसमें शहद मिलाकर चाट कर खाएं इससे आपको इसमें बहुत राहत प्रदान होगी।

Read Also – क्रिकेट की जानकारी

 

निष्कर्ष

 

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में बताया tulsi tree information in hindi। अगर आपको यह पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी साझा करें और यदि आप चाहते हैं कि हम इसी तरह के tulsi tree information in hindi अन्य विषय पर भी आपको जानकारी दे तो आप उसके लिए भी हमें कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment